कमर की देखभाल एवं पतली कमर करने के तरीके

कमर की देखभाल करना इसलिए जरुरी हो जाता है क्योंकि वर्तमान में लड़कियां एवं स्त्रियाँ पतली कमर पाने को उत्सुक रहती हैं क्योंकि नारी की सुंदरता का मुख्य आधार उसकी सुंदर, पतली और सुडौल कमर है । किसी स्त्री का चेहरा कितना भी सुन्दर क्यों न हो लेकिन कमर के बेडौल अर्थात कमर का कमरा बनते ही स्त्री के शरीर का सारा आकर्षण खत्म हो जाता है । यही कारण है की वर्तमान में नारी अपने आपको सुन्दर एवं आकर्षक रखने के लिए अपनी कमर को पतली, चिकनी एवं आकर्षक कमर बनाने या बनी देने रहने का भरसक प्रयत्न करती हैं | लेकिन फिर भी सही जानकारी एवं कमर की देखभाल के अभाव में वे अपनी कमर को पतली रख पाने में नाकाम नज़र आती हैं | इसलिए आज हम हमारे इस लेख के माध्यम से कमर की देखभाल एवं पतली कमर करने के कुछ घरेलू तरीकों, सावधानियाँ एवं व्यायामों के बारे में जानने की कोशिश करेंगे लेकिन उससे पहले यह जान लेते हैं की एक आदर्श कमर का साइज़ अर्थात पतली कमर से आशय हमारा किस साइज़ की कमर से है |

कमर की देखभाल

पतली कमर क्या है ?

जैसा की हम उपर्युक्त वाक्य में भी बता चुके हैं की नारी के कमर का सौंदर्य भी आकर्षण का केंद्र होता है । सामान्यतः पतली कमर या आकर्षक कमर की परिधि नितंब और वक्षस्थल से 6-10 इंच कम होनी चाहिए । कद के अनुरूप कमर की साइज अलग-अलग हो सकती है । गलत आदतों और देखभाल के अभाव में कमर का आकार बिगड़ जाता है ।

 कमर की देखभाल करने के घरेलू उपचार (Home Remedies for waist care):

कमर की देखभाल करने के लिए कुछ घरेलू टिप्स की लिस्ट निम्नवत हैं |

  • दो चम्मच बेसन, दो चम्मच मिल्क पाउडर, आधा चम्मच हल्दी और आधा चम्मच नमक-इन सबको गुलाबजल में मिलाकर पेस्ट बना लें । उसके बाद इसे कमर के चारों ओर उबटन की तरह लगाएं । सूख जाने पर ठीक से साफ कर लें । इससे कमर स्वच्छ एवं चिकनी हो जाती है ।
  • कमर की देखभाल करने के लिए कमर के जिस हिस्से पर पेटीकोट या साड़ी बांधी जाती है, वहां कालापन होने पर आलू, पपीते या अनन्नास के स्लाइस रगड़ें । कालापन दूर हो जाएगा ।
  • कमर में अधिक कालापन होने पर आधे नीबू पर आधा चम्मच चीनी रखकर धीरे-धीरे रगड़ें । इससे कालापन मिट जाता है ।
  • कमर की देखभाल के लिए चार चम्मच चोकर, एक चम्मच मुलतानी मिट्टी और एक चम्मच चंदन का बूरा-इन तीनों का कच्चे दूध में पेस्ट बनाकर कमर पर रगड़ें । इससे कमर की त्वचा साफ तथा मुलायम होती है ।

 पतली कमर बनाने के उपाय (Tips to make Slim Waist):

  • कमर को सुंदर और सुडौल बनाए रखने के लिए सबसे पहले अपने आहार के प्रति सचेत रहें ।
  • चीनी, स्टार्च, वसायुक्त पदार्थ तथा अधिक कैलोरी वाले पदार्थों आदि का सेवन कम करें ।
  • पतली कमर बनाने के लिए संतुलित एवं पौष्टिक आहार का सेवन करें ।
  • जितनी भूख हो, उससे कुछ कम खाएं ।
  • सुडौल कमर के लिए पेट और कूल्हों पर चर्बी न बढ़ने दें ।
  • नियमित रूप से व्यायाम करें । सुबह की सैर, रस्सी कूदना, नृत्य करना, तैरना, योगासन आदि कमर को सुडौल बनाए रखते हैं ।
  • सिर के नीचे ऊंचा तकिया रखना कमर के सौंदर्य के लिए अत्यधिक नुकसानदायक होता है । इस आदत से बचें ।
  • बढ़ती कमर पर कपड़ा कसकर न बांधे । इससे कमर का आकार और सौंदर्य अधिक बिगड़ जाता है । कमर की त्वचा पर भद्दी लकीरें भी उभर आती हैं ।
  • पतली कमर बनाए रखने के लिए सदैव सही नाप और ऊंचाई के जूते-चप्पल पहनें ।
  • ऊंची एड़ी के जूते-चप्पल कमर का आकार बिगाड़ देते हैं ।
  • कमर पर लटका चाबियों का वजनदार गुच्छा भी कमर का सौंदर्य बिगड़ देता है । अतएव कमर की देखभाल के लिए चाबियों का वजनदार गुच्छा कमर पर लटकाने से बचें ।

पतली कमर तथा कमर की देखभाल के लिए व्यायाम (Exercise for Slim Waist)

  • सीधी तनकर खड़ी हो जाएं । फिर धीरे-धीरे नीचे की ओर झुकते हुर अपने दोनों हाथों की उंगलियों से अपने दोनों पैरों के पंजे को छुएं ।
  • इसके बाद बाएं हाथ से दाएं पैर का अंगूठा तथा दाएं हाथ से बाएं पैर का अंगूठा छूने की कोशिश करें । ध्यान रहे, पैर मुड़े नहीं । इस क्रिया को बारी-बारी से 10-12 बार करें ।
  • कमर की देखभाल या पतली कमर बनाने के लिए पीठ के बल फर्श पर सीधी लेटकर दोनों पैरों को ऊपर ले जाएं । इस मुद्रा में कुछ देर रुकें, फिर धीरे-धीरे पैर को नीचे ले आएं । थोड़ी देर रुककर पुनः ऊपर जाएं । इस क्रिया को 8-10 बार करें । यह व्यायाम पैर, पीठ, पेट, वक्ष और हाथों को भी सुडौल बनाता है ।

patli kamar ke liye vyayam

  • फर्श पर बैठ जाएं । दोनों पैरों को सामने की ओर फैला दें । दोनों हाथों को सर के ऊपर ले जाकर दोनों हाथों की उंगलियां फंसा लें । फिर धीरे-धीरे सामने हो ओर अधिक से अधिक शरीर को झुकाएं । यह क्रिया 5-7 बार करें ।
  • हाथों को पीछे की ओर कर लें । साथ ही पैरों को अधिक से अधिक मोड़े, फिर पहले वाली स्थिति में फर्श के समानान्तर ले जाएं । यह क्रिया 8-10 बार करें ।
  • कमर की देखभाल के लिए सीधी खड़ी हो जाएं । दोनों पैरों के बीच एक कदम की दूरी रखें । अब धीरे-धीरे पूरे शरीर को एक ओर झुकाएं । दाएं हाथ से दाएं घुटने को छुएं । शरीर को जितना झुका सकती हैं, उतना झुकाएं । यही क्रिया बाईं ओर भी करें । यह अभ्यास बारी-बारी से 10-12 बार करें ।

About Author:

Post Graduate from Delhi University, certified Dietitian & Nutritionists. She also hold a diploma in Naturopathy.

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *