कैंसर से बचने के कुछ बेहतरीन उपाय एवं तरीके.

कैंसर से बचने के उपायों की यदि हम बात करें तो इनमे ऐसे उपाय सम्मिलित होंगे जिनसे कैंसर जैसी खतरनाक एवं जानलेवा बीमारी के होने के कारणों का पता चलता है | अर्थात कहने का आशय यह है की जिन कारणों से किसी भी प्रकार का कोई कैंसर चाहे वह त्वचा कैंसर हो, फेफड़ो का कैंसर हो, स्तन कैंसर हो, रक्त कैंसर हो या फिर कोलन कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है उन्हीं कारणों को अपनी जीवन पद्यति का हिस्सा न बनाना कैंसर से बचने के उपायों की लिस्ट में सम्मिलित हैं | जैसा की हम सबको विदित है की कैंसर नामक यह रोग बेहद भयावह एवं खतरनाक होता है लेकिन फिर भी इस भयावह स्थिति से बचा जा सकता है तो आइये आज हम अपने इस लेख ‘’कैंसर से बचने के उपाय’’ के माध्यम से जानने की कोशिश करेंगे ऐसे ही कुछ तरीकों के बारे में जिन्हें अपनाकर या छोड़कर कैंसर के रिस्क को कुछ हद तक कम किया जा सकता है |

Cancer-se-bachne-ke-upay

  1. कैंसर से बचने के लिए तम्बाकू का सेवन बंद करें (Stop Smoking):

चाहे हम किसी भी प्रकार के कैंसर के कारणों पर नज़र डालें लेकिन धुम्रपान एक ऐसा कारक है जो लगभग हर प्रकार के कैंसर का कारण माना गया है | इसलिए चिकित्सकों या शोधकर्ताओं का मानना है की किसी भी प्रकार से तम्बाकू का सेवन करने वाले लोगों की कैंसर नामक इस बीमारी से जिन्दगी के किसी भी मोड़ पर मुलाकात हो सकती है | इसलिए ऐसे लोग जो किसी भी प्रकार के तम्बाकू उत्पादों को उपयोग में लाते हैं उन्हें यह बिलकुल बंद कर देना चाहिए | एक आंकड़े में पाया गया की अमेरिका में 90% ता फेफड़े के कैंसर के ऐसे मरीज थे जो किसी न किसी प्रकार के धूम्रपान का उपयोग करते थे, इस आंकड़े में पुरुष एवं महिलाएं दोनों सम्मिलित थी | बीड़ी या सिगरेट पीने से बहुत सारे कैंसर उत्पादक (carcinogens) शरीर में प्रविष्ट हो सकते हैं जिसका परिणाम यह हो सकता है की सामान्य कोशिकाएं असमान्य कोशिकाओं में परिवर्तित होकर कैंसर कोशिकाओं का रूप धारण कर सकती हैं | यदि हम हर पारकर के कैंसर की बात करें तो इनसे मरने वाले लोगों की संख्या में लगभग एक तिहाई लोग धूम्रपान करने वाले होते हैं | सिगार पीने से भी स्वरयंत्र, अन्न्नालिका एवं मुहं का कैंसर हो सकता है इसके अलावा तम्बाकू चबाने के कारण गाल एवं मसूड़ों के कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है | अनेकों स्थिति में ऐसा भी पाया गया है जो व्यक्ति खुद धूम्रपान न करते हों लेकिन यदि वो किसी अन्य के कारण इसके संपर्क में नियमित रूप से आता रहेगा तो उसमे भी कैंसर का खतरा बढ़ सकता है | इसलिए ऐसे व्यक्ति जो स्वयं धूम्रपान नहीं करते उन्हें ऐसे लोगों से दूरी बनाई रखनी चाहिए जो धूम्रपान कर रहे हों | इन्ही सब बातों के मद्देनज़र यह कहा जा सकता है की कैंसर से बचने के उपायों की लिस्ट में धूम्रपान बंद करना पहला उपाय है |

  1. स्वास्थ्यवर्धक आहार का सेवन (Always Eat Healthy Foods):

यद्यपि यह जरुरी नहीं है की जो व्यक्ति या महिला विभिन्न प्रकार के हेल्थी फूड्स को अपने भोजन का हिस्सा बनायेंगे उन्हें किसी प्रकार का कोई कैंसर नहीं होगा लेकिन इतना जरुर है की हेल्थी फूड्स बहुत प्रकार के कैंसर के खतरे को कम करते हैं | शोध बताते हैं की विश्व में लगभग 30% कैंसरों का समबन्ध खान पान अर्थात आहार से होता है इनमे मोटा होना भी एक कारण हो सकता है | प्रतिदिन पांच या उससे अधिक बार फल एवं वेजिटेबल का उपयोग करने से, शाकाहारी पदार्थो को अपने भोजन का हिस्सा बनाने से, डाल फलियाँ इत्यादि दिन में कई बार लेने से, साथ में फाइबर युक्त पदार्थ लेने से कैंसर के खतरे को कुछ कम किया जा सकता है अर्थात कैंसर से बचाव के उपायों की लिस्ट में दूसरा उपाय है | सोयाबीन, मूंगफली, फूलगोभी, बक्रोली, अंकुरित दालों इत्यादि का सेवन करने से बड़ी आंत के कैंसर के खतरे से बचा जा सकता है | कैंसर से बचने के लिए व्यक्ति को चाहिए की वह चर्बी (Fat) वाले खाने पर नियंत्रण रखे, शराब पीने की आदत पर भी नियंत्रण रखना बेहद जरुरी होता है | पुरुषों को दिन में दो पेग से अधिक शराब नहीं पीनी चाहिए वही महिलाओं के लिए यह सीमा एक पेग है |

  1. शरीर के वजन पर नियंत्रण रखें (Control your body Weight):

वजन को नियंत्रण में रखना कैंसर से बचने के उपायों में एक प्रमुख उपाय है | शरीर का वजन स्वास्थ्यवर्धक सीमा में रखना एवं नियमित व्यायाम एवं खेलना कूदना किसी भी व्यक्ति के लिए स्वास्थ्य की दृष्टि से लाभकारी हो सकता है | मोटापा जहाँ अनेक प्रकार के रोग लेके आता है वही मोटापे से मूत्राशय कैंसर, बड़ी आंत एवं मलाशय का कैंसर, गर्भाशय कैंसर, स्तन कैंसर इत्यादि होने का खतरा बढ़ जाता है | इसलिए व्यक्ति को डॉक्टर, फिजियोथेरेपिस्ट की सलाह पर या स्वयं ही प्रतिदिन आधे घंटे या इससे अधिक व्यायाम करना चाहिए | इसमें व्यक्ति चाहे तो तीव्र गति से चलना, दौड़ना, बागानों में कुछ काम करना, या फिर नाच भी सकता है या फिर सुबह सुबह आधे घंटे या उससे अधिक योग भी कर सकता है |

  1. Save yourself from Sun Rays (सूर्य की किरणों से बचें):

सूर्य की विकिरणों से त्वचा का कैंसर होने का खतरा रहता है हालांकि बार बार किसी रेडिएशन के संपर्क में आने से भी त्वचा के कैंसर होने का खतरा रहता है जैसे किसी कारणवश बार बार एक्स रे करना या त्वचा को विभिन्न रसायनों के समपर्क में लाने के कारण भी कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है | सूर्य की किरणों को कैंसर होने का कारण इसलिए माना जा सकता है क्योंकि एक शोध के मुताबिक अधिकतर त्वचा के कैंसर शरीर के ऐसे हिस्सों में पनपते हैं जिन्हें लोग घर से बाहर निकलते समय ढकते नहीं है इसमें चेहरा, हाथ, कान इत्यादि सम्मिलित हैं | इसलिए लोगों को त्वचा के कैंसर से बचने के लिए चाहिए की वे दोपहर कड़ी धुप में बाहर न निकलें यदि बाहर निकलना ही पड़े तो छाते इत्यादि का उपयोग करके निकलें और यह भी ध्यान में रखें की धुप में निकलते समय शरीर के अंगों को कपड़े से ढक लें गुणवत्तायुक्त Sunscreen का भी उपयोग धूप से बचने के लिए किया जा सकता है |

  1. कैंसर से बचने के लिए Screening Tests कराइए :

कैंसर के ऐसे कई प्रकार होते हैं जिन्हें प्राथमिक अवस्था में पकड़ने के लिए Screening Tests की आवश्यकता हो सकती है | इस प्रकार के परीक्षण करने से जहाँ कैंसर को उसकी आरंभिक अवस्था में पकड़ा जा सकता है वही इसके निदान की संभावना भी अधिक रहती है | मनुष्य के विभिन्न अंगो जैसे त्वचा, मुहं, बड़ी आंत मलाशय सबके परीक्षण करना कैंसर को रोकने के लिए ठीक रह सकते हैं | इसके अलावा पुरुषों को प्रोस्टेट ग्रन्थि एवं वृषण का भी Screening Tests करा लेना चाहिए वही महिलाओं को ग्राभाशय एवं स्तनों का | व्यक्ति या महिला को चाहिए की उसके शरीर में होने वाले बदलावों के प्रति वह सचेत रहे और कोई भी बदलाव दिखने पर चिकित्सक की सलाह अवश्य लें इस प्रक्रिया से कैंसर को आरंभिक अवस्था में पकड़ने के लिए सहायता प्राप्त होगी |

  1. कैंसर से बचने के लिए आहार, व्यवहार एवं भावनाओं पर नियंत्रण रखें |

आहार व्यवहार एवं भावनाओं पर नियंत्रण रखने से हमारा अभिप्राय यह है की एक अध्यन में इस बात का पता लगा है की ऐसी महिलाएं जो मीठे का ज्यादा सेवन करती हैं उनमे Colorectal Cancer की संभावना हो सकती है | और यह भी पाया गया है की यदि किसी व्यक्ति या महिला द्वारा ऐसे व्यक्ति या महिला से शारीरिक सम्बन्ध स्थापित किये जाते हैं जो papillomavirus से ग्रसित है तो समबन्ध स्थापित करने वाला व्यक्ति भी इसकी चपेट में आ सकता है | महिलाओं को चाहिए की वह गर्भनिरोधक गोलियों का इस्तेमाल एक लम्बे काल तक न करें इससे स्तन कैंसर एवं ह्रदय कैंसर होने का खतरा रहता है | कैंसर से बचने के लिए भरपूर नींद लेना अति आवश्यक है | नमक इत्यादि का संतुलित मात्रा में सेवन करें ताकि पेट के कैंसर इत्यादि के खतरे से बचा जाय | जो लोग हर बात पर बहुत ज्यादा भावुक हो जाते हैं उनमे भी कैंसर की बीमारी का अधिक खतरा रहता है इसलिए कैंसर से बचने के लिए व्यक्ति या महिला को चाहिए की वह अपनी भावनाओं पर भी नियंत्रण बनाये रखें |

About Author:

HBG Health desk is a team of Experienced professionals holding various skills. They are expert to do research online and offline on health, beauty, wellness, and other components of health in Hindi.

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *