चालीस के बाद मेकअप करने के कुछ जरुरी टिप्स

त्वचा में भी उम्र के साथ बदलाव होते रहते हैं इसलिए चालीस के बाद मेकअप कैसा होगा हम इस लेख के माध्यम से जानने का प्रयास करेंगे | कहने का आशय यह है की एक सोलह साल की लड़की का मेकअप करने का स्टाइल, त्वचा की जरूरतें इत्यादि एक चालीस साल की महिला से अलग हो सकती हैं इसलिए इसी बात के मद्देनज़र हमें यह जानने की कोशिश करनी चाहिए की चालीस के बाद मेकअप किस तरह का होना चाहिए | यद्यपि महिलाएं जवान और खूबसूरत दिखने के लिए अपने खान पान एवं पहनावे में भी समय समय पर बदलाव करती रहती हैं लेकिन हर उम्र में खुबसूरत दिखने के लिए चालीस के बाद इन सबके साथ साथ मेकअप स्टाइल में भी परिवर्तन लाने की आवश्यकता होती है ।

चालीस के बाद मेकअप टिप्स

चालीस के बाद मेकअप कैसा होना चाहिए:

  • चालीस के बाद मेकअप करते समय फाउंडेशन की गहरी परत के बाद पाउडर की लेयर नहीं चढ़ानी चाहिए बल्कि दोनों की बेहद हलकी परत लगाई जा सकती है इससे चेहरे को स्वत: खूबसूरती मिलती है |
  • मेकअप कर रही नारी को चाहिए की वह अपना मेकअप मॉइस्चराइजर से शुरू करे और उसे पूरी तरह त्वचा में समाने दे , ताकि उसका चेहरा स्निग्ध व कोमल हो जाए | उसके बाद स्त्री द्वारा बेस क्रीम लगाई जानी चाहिए । उसके बाद स्त्री चाहे तो हल्का-सा अल्ट्राफाइन पाउडर इस्तेमाल कर सकती है क्योंकि एक healthy त्वचा की खूबसूरती उसकी नमी से ही झलकती है और क्रीम की चमक को हल्का करने के लिए ही पाउडर की आवश्यकता होती है |
  • चालीस के बाद मेकअप करते समय ध्यान रहे की यदि नारी को आईलाइनर का शौक है तो मोटी लाइन के बजाय पलकों के बारीक-सी लाइन लगानी चाहिए । मेकअप आर्टिस्ट की राय के मुताबिक ऊपर की पलकों पर मस्कारा का उपयोग करने से आंखों का लुक कोमल हो जाता है | समबन्धित स्त्री को चाहिए की वह गहरी लिपस्टिक के बदले सॉफ्ट व ब्राइट कलर की लिपस्टिक का इस्तेमाल करे क्योंकि अधिक डार्क कलर की लिपस्टिक से होंठ सिकुड़े हुए लग सकते हैं | इसलिए बेहतरी इसी में होती है की मॉइस्चराइजर युक्त लिपस्टिक का प्रयोग करना चाहिए जिससे होंठों की नमी बरकरार रखी जा सके और लिपस्टिक लगाने के बाद नेचुरल रंग का कलर ग्लॉस भी लगाया जा सकता है |
  • वह नारी जिसे गहरे रंग ही पसंद हैं या जिसके चेहरे पर गहरे रंग ही अच्छे लगते हैं उन्हें चाहिए की वे प्लम शेड्स की लिपस्टिक का उपयोग न करके बेरी शेड्स की लिपस्टिक का उपयोग करें | लिपस्टिक को लगाने के बाद टिश्यू पेपर से अतिरिक्त लिपस्टिक को सोख लिया जा सकता है और इसके तुरंत बाद सॉफ्ट फोकस फिनिश के लिए ग्लॉस एप्लाई किया जा सकता है ।
  • चालीस के बाद मेकअप कर रही स्त्री को खूबसूरती निखारने के लिए ब्लशर अवश्य लगाना चाहिए । इससे त्वचा ताज़ी एवं कांतियुक्त लगती है क्योंकि बढ़ती उम्र के साथ त्वचा की चमक धीरे धीरे कम होने लगती है इसलिए हलके एवं नेचुरल तरीके से ब्लशर लगाना आवश्यक हो जाता है |
  • चालीस के बाद मेकअप करते वक्त चेहरे के किसी एक अंग को ही मेकअप द्वारा उभरने का प्रयास करें । क्योंकि बाकी अंगों पर स्वाभाविक व सादगीयुक्त मेकअप ही खूबसूरती निखारता है।
  • इस उम्र में मेकअप करते वक्त ध्यान रहे की पोनिटेल बांधना या चेहरे पर जुल्फें बिखेर देना मना है क्योंकि यह क्रियाकलाप आपको अपरिपक्व दिखा सकता है | इसलिए चेहरे को सूट करते हुए बालों को हल्का ढीला छोड़ दें । या फिर खुला छोड़ना मज़बूरी ही हो तो बालों में लेयर वाली स्टाइल अधिक अच्छी लगती है ।
  • हालाकिं इस बात से तो आप वाकिफ होंगे ही की फाउंडेशन का चुनाव मेकअप में अहम भूमिका निभाता है । इसलिए इसका चुनाव बिल्कुल सही होना चाहिए । मैच्योर त्वचा को यंग लुक देने के लिए नॉर्मल से एक शेड लाइट बेस क्रीम का चुनाव करने से त्वचा खूबसूरत व नेचुरल लग सकती है ।
  • चालीस के बाद मेकअप करते वक्त बालों को कलर करते समय भी थोड़े से बदलाव की आवश्यकता होती है । इस उम्र में बेहतर यही है की आप अपने बालों के स्वाभाविक रंग से दो शेड लाइटर शेड चुनें, जिससे चेहरे की आभा व आंखों की खूबसूरती प्रभावित नहीं होती है | अच्छे या सही आकार का आई ब्रो भी चेहरे की खूबसूरती को बढ़ाता है, लेकिन ज्यादा पतले या धनुषाकार आई ब्रो चेहरे को प्रौढ़ लुक दे सकते हैं । इसलिए बेहतर होगा कि आई ब्रो के वास्तविक व स्वाभाविक आकार को थोड़ा और खूबसूरत आकार देने की कोशिश करें ।
  • ध्यान रहे तनावपूर्ण त्वचा पर उम्र के निशान जल्दी दिखाई देते हैं । इसलिए योगा ऐरोबिक्स अथवा तेज गति से चलना जैसे व्यायाम लाभकारी हो सकते हैं, कम-से-कम हफ्ते में 3 या 4 दिन 20-30 मिनट व्यायाम अवश्य करना चाहिए |
  • स्वस्थ और खूबसूरत त्वचा के लिए फेशियल एक अच्छा उपाय हो सकता है । इसलिए संभव हो तो पार्लर में फेशियल करा सकते हैं ।
  • चालीस के बाद मेकअप में दाग-धब्बों और तैलीय त्वचा को दूर करने वाला मास्क और ढीली त्वचा को कसने और पुष्ट रखने वाला मास्क अपनाकर भी इच्छुक नारी अपने चेहरे की रंगत को बदल सकती हैं ।

तैलीय त्वचा और दाग-धब्बों को दूर करने वाला मास्क कैसे बनायें :

तैलीय त्वचा और दाग-धब्बों को दूर करने वाला मास्क बनाने के लिए इच्छुक स्त्री को एक बड़ा चम्मच बुअर्स यीस्ट पाउडर, एक छोटा चम्मच नीम्बू का रस , एक छोटा चम्मच गाज़र का रस, एक छोटा चम्मच नारंगी का रस, आधा टेबल स्पून दही का प्रबंध करना होगा | उसके बाद उपर्युक्त दी गई सभी सामग्री को मिलाकर लेप तैयार करना होगा और अपने चेहरे पर अप्लाई करना होगा यह प्रक्रिया चेहरे में रक्त संचार को बढ़ाने में सहायक होगी और निस्तेज त्वचा को साफ़ करके निखारने में भी सहायक सिद्ध होगी |

ढीली त्वचा को टाइट करने वाला मास्क कैसे बनायें :

चालीस के बाद मेकअप करने हेतु ढीली त्वचा को टाइट करने वाला मास्क बनाने के लिए इच्छुक स्त्री को एक अंडे की सफेदी, आधा चम्मच शहद, एक बड़ा चम्मच पाउडर वाला सूखा दूध का प्रबंध करना होगा उसके बाद इस उपर्युक्त सामग्री को इस तरह से और इतना फेंटना होगा की यह आपस में अच्छी तरह मिल जाए । और इसके बाद इस लेप को चेहरे पर लगाना होगा इससे ढीली त्वचा को टाइट करने में मदद मिलती है |

चालीस के बाद कृपया ध्यान दें

चालीस के बाद मेकअप के अलावा सुन्दर एवं आकर्षक दिखने की चाहत रखने वाली स्त्रियों को निम्न बातों का भी ध्यान रखना चाहिए |

  • चालीस साल की उम्र के बाद अच्छी खुराक के अलावा अतिरिक्त आयरन बी-कॉम्प्लेक्स और कैल्शियम एंटी ऑक्सिडेंट ले सकते हैं ।
  • चालीस के बाद स्त्रियाँ को चाहिए की वे एंटी एजिंग सप्लीमेंट कोएन्जाइम व क्यू10 इत्यादि का भी इस्तेमाल कर सकते हैं |
  • यदि त्वचा में झुर्रियां एवं झाइयाँ हों तो ग्लाइकोलिक एसिड पील का इस्तेमाल किया जा सकता है |

About Author:

Post Graduate from Delhi University, certified Dietitian & Nutritionists. She also hold a diploma in Naturopathy.

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *