डी. एण्ड सी. क्या है ?कैसे और कब किया जाता है?

Dilatation and curettage डी. एण्ड सी.  एक सामान्य सा gynaecological procedure है । इसका प्रयोग diagnostic tool की भांति गर्भपात के बाद गर्भाशय की सफाई हेतु व गर्भपात करने के लिये किया जाता है । यह जनरल व लोकल एनेस्थीसिया दोनों के साथ किया जा सकता है ।

डी. एण्ड सी.

डी. एण्ड सी. (D&C) क्या है:

Dilatation द्वारा गर्भाशय के मुख अथवा सर्विक्स को फैलाया जाता है । इसके लिये सर्विक्स के diameter को बढ़ाने के लिये उसमें मैटल रॉड की एक सीरीज को डाला जाता है व उसे इतना फैलाया जाता है कि curette (scraping tool) को गर्भाशय में डाला जा सके । सर्विक्स को फैलाने का एक और तरीका यह है कि उसमें laminaria plug (a seaweed rod) डाला जाता है । Curette एक छोटे चम्मच की भांति होता है, जिसे गर्भाशय में डालकर गर्भाशय की अंदरूनी परत अर्थात् लाइनिंग को धीरे-धीरे खुरचा जाता है ।

 डी. एण्ड सी. (D & C) के पहले व बाद की प्रक्रिया :

डी. एण्ड सी. से पहले या तो आपको अपने भोजन को नियंत्रित करने  या फिर  खाली पेट रहने का निर्देश दिया जाता है या फिर आपको एनिमा भी दिया जा सकता है । खून व पेशाब की जांच की जाती है, रक्तचाप की जांच की जाती है । डी. एण्ड सी. (D&C ) के पूर्व आपको जनरल अथवा लोकल एनेस्थीसिया दिया जाता है । सर्जरी के बाद आपको कुछ घण्टों तक हल्की cramping का अनुभव होता है । एक-दो दिन बाद आप अपनी दिनचर्या के कार्य प्रारंभ कर सकते हैं । थकाने वाले व्यायाम, संभोग व टैम्पून आदि के प्रयोग से लगभग 5 दिन तक दूर रहना चाहिये ।

डी. एण्ड सी. के बाद सावधानियां :

यदि आपको निम्नलिखित में से कोई भी लक्षण दिखाई दे, तो अपने डॉक्टर से तुरंत संपर्क करें |

  • यदि आपको बुखार आ जाता है, तो यह इन्फेक्शन का संकेत है ।
  • यदि आपको दो दिन से अधिक तेज दर्द होता है और आप बहुत तेज दर्द अनुभव करती हैं ।
  • आपको तेज रक्तस्राव लंबे समय तक हो रहा है और साथ ही स्राव में खून के थक्के जैसे निकल रहे हैं ।

डी. एण्ड सी. की सलाह किन परिस्थितियों में दी जाती है :

  • यदि आपको असामान्य मासिक स्राव होता है ।
  • रजोनिवृत्ति के दौरान रक्तस्राव होता है ।
  • संभोग के बाद रक्तस्राव का अनुभव होता है ।
  • मासिक चक्र के बीच रक्तस्राव होता है ।
  • आपके गर्भाशय में fibroids हैं ।
  • यदि आपको endometrial polyps हैं ।
  • यदि uterine अथवा cervical cancer की आशंका है ।
  • यदि आपका गर्भपात अथवा incomplete abortion हुआ है, तो इन्फेक्शन से बचने के लिये डी. एण्ड सी. आवश्यक होती है ।

About Author:

HBG Health desk is a team of Experienced professionals holding various skills. They are expert to do research online and offline on health, beauty, wellness, and other components of health in Hindi.

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *