पैदल चलने के फायदे या लाभ जो हर किसी को जानने चाहिए.

पैदल चलने के फायदे या लाभ जानने से पहले यह जान लेना जरुरी है की पैदल चलना भी किसी व्यायाम से कम नहीं है | आमतौर पर लोग व्यायाम का मतलब हॉकी, फुटबाल, टेनिस आदि खेलना, दौड़ना, जॉगिंग, तैरना, रस्सी कूदना, दंड बैठक लगाना, साइकिल चलाना इत्यादि करना ही समझते हैं । सामान्य तरीके से सुबह-शाम घूमना, सैर करना, टहलना, तेज चलना आदि को व्यायाम नहीं मानते । जबकि सच्चाई यह है की उपर्युक्त क्रियाओं से शरीर का पूरा व्यायाम हो जाता है और शरीर स्वस्थ, नीरोग बनता है । पैदल चलना एक सरल, सुरक्षित, व्यावहारिक व बगैर खर्चे का व्यायाम है । प्राचीन काल से ही ऋषि-मुनि स्वस्थ जीवन बिताने का एकमात्र सूत्र घूमना, टहलना या पैदल चलना बताते रहे हैं ।  रूस में संसार के सर्वाधिक दीर्घायु व्यक्ति रहते हैं । यहां के लोग सक्रिय रहते हुए पैदल चलने में विश्वास रखते हैं । जापानी विशेषज्ञों के अनुसार अच्छी सेहत की कुंजी है-‘प्रतिदिन दस हजार डग चलना । इसलिए आज हम हमारे इस लेख के माध्यम से पैदल चलने के फायदे या पैदल चलने के लाभों को जानने की कोशिश करेंगे |

पैदल चलने के फायदे

पैदल चलना उम्र बढ़ाता है  

पैदल चलने के फायदे में पहला फायदा उम्र से जुड़ा हुआ है, बोस्टन विश्वविद्यालय के डॉ. लेविन का मत है कि सप्ताह में मात्र तीन दिन 45 मिनट रोज का भ्रमण स्वस्थ जीवन के लिए पर्याप्त है । भ्रमण पर स्टेनफॉर्ड विश्वविद्यालय अमेरिका में शोध अनुसंधान हुए, जिसके अनुसार 12 किलोमीटर प्रति सप्ताह पैदल चलने से मृत्यु के खतरे 21 प्रतिशत कम और 40-45 किलोमीटर प्रति सप्ताह पैदल चलने से लगभग 10 प्रतिशत रह जाते हैं ।

पैदल चलने से मस्तिष्क की क्षमता बढती है

पैदल चलने के फायदे में दूसरा फायदा दिमाग से सम्बंधित है, सैन फ्रांसिस्को स्थित कैलीफोर्निया यूनिवर्सिटी की क्रिस्टीन याफे के मतानुसार जीवन के साठ दशक देख चुकी महिलाएं भी नियमित रूप से खूब पैदल चलकर व व्यायाम करके अपने मस्तिष्क को आयु के प्रभाव से बचा सकती हैं । इसके विपरीत जो महिलाएं कम चलती व कम व्यायाम करती हैं, उनके मस्तिष्क की सक्रियता पहले से कम हो जाती है ।

पौरुष शक्ति बढ़ाता है पैदल चलना:

तेल अबीब के डॉ. एलेक्स आलशिंस्की द्वारा 45 से 55 वर्ष की आयु वर्ग के 243 पुरुषों पर किए गए परीक्षणों से निष्कर्ष निकला है कि पैदल चलना सबसे अच्छा व्यायाम तो है ही,  इसके अलावा पुरुषों की नपुंसकता को दूर करने में पैदल चलने के फायदे देखे गए हैं । डॉ. आलशिंस्की के मतानुसार 67 प्रतिशत पुरुषों को पैदल चलने के बाद वियाग्रा की जरूरत ही नहीं पड़ी, क्योंकि एक सप्ताह में 4 किलोमीटर पैदल चलकर पुरुष अपनी खोई हुई शक्ति प्राप्त कर सकता है । ऐसे लोगों में बुढ़ापा भी जल्दी नहीं आता ।

शरीर को दुरूस्त रखने में पैदल चलने के फायदे:

सारे शरीर की क्षमता सुधारने के लिए पैदल चलना सबसे अधिक प्रभावशाली व्यायाम है । इसमें किसी भी व्यायाम की अपेक्षा शरीर की सारी मांसपेशियां अधिक गतिशील रहती हैं । विशेषकर टांग, कूल्हा, निचला पेट, हाथ की पेशियों में विशेष रूप से सक्रियता आ जाती है । शरीर में चुस्ती आती है । पेशीय संकुचन से दूषित रक्त वाली शिराएं दबकर खून का उचित प्रवाह करने लगती हैं । पसीना निकलकर शरीर की गंदगी दूर होती है ।

पैदल चलने से वजन कम होता है

पैदल चलने के फायदे में यह फायदा उन लोगों के लिए है जिन्हें अपना वजन कम करना हो, उनके लिए भ्रमण यानिकी पैदल चलने से सरल, सफल और सर्वोत्तम तरीका शायद ही कोई और हो । शरीर में जमी चर्बी से उत्पन्न ऊर्जा को नष्ट करने में पैदल घूमना महत्त्वपूर्ण है, क्योंकि प्रति किलोमीटर पैदल चलने से 100 कैलोरी से ज्यादा ऊर्जा खर्च होती है । भोजन पर नियंत्रण रखकर भ्रमण जारी रखने वालों का 25 प्रतिशत वजन आसानी से कम हो जाता है ।

पैदल चलने के अन्य फायदे या लाभ :

  • पैदल घूमने वालों को मधुमेह की बीमारी कम होती है । मधुमेह से पीड़ित व्यक्ति भी यदि प्रतिदिन नियमित रूप से टहले, तो इंसुलिन की मात्रा की कम-से-कम जरूरत पड़ती है ।
  • तेज पैदल चलने से उच्च रक्तचाप की दवाओं से छुटकारा मिल जाता है ।
  • कमर दर्द, अस्थि रोग में विशेष रूप से आराम मिलता है। हड्डियां मजबूत बनती हैं । हृदय रोग में लाभ होता है ।
  • घूमने के दौरान शुद्ध ऑक्सीजन मिलने से फेफड़े और कोशिकाएं तंदुरुस्त रहती हैं और रोग निरोधक शक्ति बढ़ती है ।
  • शरीर में रक्तसंचार तेज होने से मस्तिष्क में खून का बहाव ज्यादा होने से दिमागी ताजगी मिलती है । चुस्ती-फुर्ती बढ़कर भूख खुलकर लगती है । कब्ज की शिकायत नहीं होती ।
  • दूसरी कसरतों की तरह ही पैदल चलने में शरीर से इंडोर्फिन हार्मोन का रिसाव होता है, जिससे आप हलका-फुलका, प्रसन्न महसूस करेंगे ।
  • पैदल चलने के फायदे में यह फायदा सुन्दरता से जुड़ा हुआ है पैदल चलने से चेहरे पर निखार आएगा और मानसिक तनाव दूर होकर खूब अच्छी नींद आएगी ।

उपर्युक्त पैदल चलने के फायदे की लिस्ट को देखते हुए कहा जा सकता है की जब दूसरा कोई व्यायाम न कर सकें, तो पैदल घूमने का नियम अवश्य बनाएं । यद्यपि तेज गति से चलना ज्यादा फायदेमंद होता है लेकिन शुरुआत में गति धीमी ही रखें और फिर धीरे धीरे गति बढ़ाएं । पैदल चलने का समय और गति अपनी शारीरिक क्षमता व बीमारी को ध्यान में रखते हुए तय करें । कमर और गर्दन सीधी तथा कंधे ऊंचे रखने का ध्यान अवश्य रखें ।

About Author:

HBG Health desk is a team of Experienced professionals holding various skills. They are expert to do research online and offline on health, beauty, wellness, and other components of health in Hindi.

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *