मधुमक्खी एवं ततैया का डंक मारने के लक्षण एवं ईलाज

मधुमक्खी एवं ततैया का डंक मारने के लक्षण एवं ईलाज

मधुमक्खी एवं ततैया का डंक मारना अर्थात काटना कभी कभी बेहद खतरनाक रूप धारण कर सकता है |  मधुमक्खी के काटने को वर्तमान में हलके में लिया जाता है लेकिन यदि समय पर इसका ईलाज न किया गया तो कुछ स्थितियों में यह विकराल रूप धारण कर सकता है | हालांकि ततैया के काटने अर्थात Wasp Sting को मधुमक्खी के काटने से थोडा बहुत गंभीरता से अवश्य लिया जाता है | हालांकि मधुमक्खी एवं ततैया दोनों के काटने पर जलन, सूजन के साथ तेज बुखार भी आ सकता है, इसलिए आज हम हमारे इस लेख के माध्यम से मधुमक्खी एवं ततैया के डंक मारने के लक्षणों एवं ईलाज के बारे में जानने की कोशिश करेंगे |

मधुमक्खी एवं ततैया bees-and-wasp-sting

मधुमक्खी एवं ततैया के डंक मारने के लक्षण (Symptoms of Bees & wasp sting).

मधुमक्खी एवं ततैया के डंक मारने के कुछ प्रमुख लक्षण निम्नवत हैं |

  • मधुमक्खी एवं ततैया के डंक मारने के लक्षण स्थानीय होते हैं |
  • डंक मारे जाने वाली जगह पर जलन एवं सूजन हो सकती है |
  • मधुमक्खी एवं ततैया के डंक मारने पर डंक वाले स्थान पर दर्द, लाली एवं चकते से हो सकते हैं |
  • अधिक डंक लग जाने पर कभी कभी रक्तचाप में भी कमी आ सकती है और सांस लेने में परेशानी के अलावा रोगी बेहोश तक हो सकता है |
  • कई बार सेन्सेटेविटी प्रतिक्रिया के कारण रोगी को बेहोशी, सीने में दर्द, सांस लेने में तकलीफ, मुंह व अधरों पर सूजन, शरीर पर खुजलाहट होती है । इन लक्षणों के प्रकट होते ही यदि समय पर चिकित्सा न की जाए तो एक घंटे में रोगी की मृत्यु तक हो सकती है ।

मधुमक्खी एवं ततैया के काटने पर ईलाज (Treatment of Bees and wasp sting)

  • मधुमक्खी एवं ततैया के डंक मारने अर्थात काटने पर इसका ईलाज करने के लिए निम्न स्टेप अपनाये जा सकते हैं |
  • प्रभावित व्यक्ति को सर्वप्रथम दंश वाले स्थान को दबाकर डंक निकालने का प्रयास करना चाहिए |
  • डंक निकालने के बाद उस स्थान पर चिकित्सक की सलाह पर एन्टी हिस्टामीन क्रीम लगाई जा सकती है ।
  • चिकित्सक द्वारा प्रभावित व्यक्ति को इंजेक्शन एपीनेफ्रीन यानि एड़ीनलिन इत्यादि निर्धारित मात्रा में त्वचा में दी जा सकती हैं |
  • आवश्यकता पड़ने पर चिकित्सक द्वारा प्रभावित व्यक्ति को डाइफिनाईल हाइड्रामीन उचित मात्रा में शिरा मार्ग द्वारा दी जा सकती है |
  • इसके अलावा इंजेक्शन डेक्सोना या टेबलेट प्रेडनिसोलोन और avil गोली का उपयोग भी चिकित्सक द्वारा मधुमक्खी एवं ततैया के डंक मारने के ईलाज के लिए किया जा सकता है |

सम्बंधित लेख:

बिच्छू के काटने के लक्षण एवं उपचार

सांप के काटने के लक्षण एवं उपचार

Leave a Comment

%d bloggers like this: