मधुमक्खी एवं ततैया का डंक मारने के लक्षण एवं ईलाज

मधुमक्खी एवं ततैया का डंक मारना अर्थात काटना कभी कभी बेहद खतरनाक रूप धारण कर सकता है |  मधुमक्खी के काटने को वर्तमान में हलके में लिया जाता है लेकिन यदि समय पर इसका ईलाज न किया गया तो कुछ स्थितियों में यह विकराल रूप धारण कर सकता है | हालांकि ततैया के काटने अर्थात Wasp Sting को मधुमक्खी के काटने से थोडा बहुत गंभीरता से अवश्य लिया जाता है | हालांकि मधुमक्खी एवं ततैया दोनों के काटने पर जलन, सूजन के साथ तेज बुखार भी आ सकता है, इसलिए आज हम हमारे इस लेख के माध्यम से मधुमक्खी एवं ततैया के डंक मारने के लक्षणों एवं ईलाज के बारे में जानने की कोशिश करेंगे |

मधुमक्खी एवं ततैया bees-and-wasp-sting

मधुमक्खी एवं ततैया के डंक मारने के लक्षण (Symptoms of Bees & wasp sting).

मधुमक्खी एवं ततैया के डंक मारने के कुछ प्रमुख लक्षण निम्नवत हैं |

  • मधुमक्खी एवं ततैया के डंक मारने के लक्षण स्थानीय होते हैं |
  • डंक मारे जाने वाली जगह पर जलन एवं सूजन हो सकती है |
  • मधुमक्खी एवं ततैया के डंक मारने पर डंक वाले स्थान पर दर्द, लाली एवं चकते से हो सकते हैं |
  • अधिक डंक लग जाने पर कभी कभी रक्तचाप में भी कमी आ सकती है और सांस लेने में परेशानी के अलावा रोगी बेहोश तक हो सकता है |
  • कई बार सेन्सेटेविटी प्रतिक्रिया के कारण रोगी को बेहोशी, सीने में दर्द, सांस लेने में तकलीफ, मुंह व अधरों पर सूजन, शरीर पर खुजलाहट होती है । इन लक्षणों के प्रकट होते ही यदि समय पर चिकित्सा न की जाए तो एक घंटे में रोगी की मृत्यु तक हो सकती है ।

मधुमक्खी एवं ततैया के काटने पर ईलाज (Treatment of Bees and wasp sting)

  • मधुमक्खी एवं ततैया के डंक मारने अर्थात काटने पर इसका ईलाज करने के लिए निम्न स्टेप अपनाये जा सकते हैं |
  • प्रभावित व्यक्ति को सर्वप्रथम दंश वाले स्थान को दबाकर डंक निकालने का प्रयास करना चाहिए |
  • डंक निकालने के बाद उस स्थान पर चिकित्सक की सलाह पर एन्टी हिस्टामीन क्रीम लगाई जा सकती है ।
  • चिकित्सक द्वारा प्रभावित व्यक्ति को इंजेक्शन एपीनेफ्रीन यानि एड़ीनलिन इत्यादि निर्धारित मात्रा में त्वचा में दी जा सकती हैं |
  • आवश्यकता पड़ने पर चिकित्सक द्वारा प्रभावित व्यक्ति को डाइफिनाईल हाइड्रामीन उचित मात्रा में शिरा मार्ग द्वारा दी जा सकती है |
  • इसके अलावा इंजेक्शन डेक्सोना या टेबलेट प्रेडनिसोलोन और avil गोली का उपयोग भी चिकित्सक द्वारा मधुमक्खी एवं ततैया के डंक मारने के ईलाज के लिए किया जा सकता है |

सम्बंधित लेख:

बिच्छू के काटने के लक्षण एवं उपचार

सांप के काटने के लक्षण एवं उपचार

About Author:

HBG Health desk is a team of Experienced professionals holding various skills. They are expert to do research online and offline on health, beauty, wellness, and other components of health in Hindi.

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *