Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
diabetes ke ilaj me shayak upkaran

डायबिटीज के ईलाज में सहायक उपकरण एवं आधुनिक तरीके.

दुनिया की अनेक प्रयोगशालाओं में डायबिटीज पर लगातार अनुसंधान कार्य चल रहा है । खोजी वैज्ञानिक दस्ते उसके रहस्यों की थाह लेने में जुटे हैं । इस शोध से रोग की बारीकियाँ और बचाव के नए रास्ते खुलकर सामने आ रहे हैं । रोगी का जीवन स्वस्थ और सहज बनाने की कोशिशें भी लगातार की […]

निमोनिया

निमोनिया के कारण लक्षण एवं ईलाज

निमोनिया नामक यह रोग लगभग सभी उम्र के लोगों में पाया जाता है  । शीत तथा बसंत काल में इस रोग के अधिक होने की संभावना होती है । यह Diptococcus Pneumonia के संक्रमण से होता है । सन् 1881 में Postucher व 1884 में Frankel ने इस जीवाणु की खोज की थी । यह […]

गर्भावस्था में किडनी

गर्भावस्था में किडनी में होने वाले परिवर्तन एवं बीमारियाँ

गर्भावस्था में किडनी की देखरेख की बात करें तो गर्भावस्था में गर्भाशय के बढ़ने तथा शिशु के विकास के कारण हृदय को लगभग 30-40 प्रतिशत ज्यादा काम करना पड़ता है, ठीक इसी प्रकार किडनी को भी 30-40 प्रतिशत ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है । गर्भावस्था के दौरान स्त्री का वजन 8-12 किलोग्राम बढ़ता है । […]

गुर्दा प्रत्यारोपण

गुर्दा प्रत्यारोपण कैसे और किस किस से दान लेकर किया जा सकता है

किसी भी व्यक्ति में गुर्दा प्रत्यारोपण की स्थिति तब बन सकती है जब बीमारी के कारण गुर्दा के बड़े अंश (85 प्रतिशत से ज्यादा) स्थायी रूप से क्षतिग्रस्त हो गए हों, और उनमें सुधार की कोई उम्मीद नहीं दिखाई दे रही हो | तब चिकित्सक व्यक्ति को नया गुर्दा लगाने की सलाह दे सकते हैं […]

दवाओं का किडनी पर दुष्प्रभाव

दवाओं का किडनी पर दुष्प्रभाव (Side Effects of Medicines on kidneys)

विभिन्न दवाओं के किडनी पर दुष्प्रभाव हो सकते हैं क्योंकि हमारे द्वारा सेवन की गई दवाओं की ज्यादातर मात्रा, मेटाबोलिज्म के द्वारा रूपांतरित हो शरीर के द्वारा उपयोग कर ली जाती है और नष्ट हो जाती है । जो अंश मेटाबोलिज्म के कारण नष्ट नहीं होता है, वह मात्रा प्रायः गुर्दो के द्वारा ही शरीर […]

एण्डोमेट्रियोसिस

एण्डोमेट्रियोसिस के कारण लक्षण निदान एवं ईलाज

एण्डोमेट्रियोसिस  एक ऐसी बीमारी है, जो स्त्रियों की इनफर्टिलिटी का कारण बन जाती है । यह एक ऐसी स्थिति है, जिसमें गर्भाशय की परत अथवा एण्डोमेट्रियम के टिशू गर्भाशय के बाहर विकसित हो जाते हैं व पेट की कैविटी में अन्य अंगों से जुड़ जाते हैं । यह एक ऐसी बीमारी है, जो बढ़ती ही […]

किडनी रोग के लक्षण

किडनी रोग एवं मूत्र रोगों के लक्षण Symptoms of Kidney and Urinary Diseases.

किडनी रोग एवं मूत्र रोगों पर एक साथ बात करना इसलिए जरुरी हो जाता है क्योंकि किडनी एवं मूत्रवाहिनी उत्सर्जन तंत्र के दो प्रमुख भाग हैं | किडनी का काम खून की सफाई करके मूत्र बनने का होता है तथा मूत्राशय एवं मूत्रनली का कार्य मूत्र का संचयन करके उसे शरीर से बाहर निकालने का […]