डायबिटीज में खाने पीने के टिप्स, क्या खाएं क्या न खाएं |

वैसे तो प्रत्येक बीमारी में खान पान का ख़ास तौर पर ध्यान रखना पड़ता है लेकिन डायबिटीज में खाने पीने का विशेष ध्यान रखना पड़ता है | क्योंकि मधुमेह या डायबिटीज से पीड़ित व्यक्ति का भोजन केवल उसका पेट भरने के लिए नहीं होता बल्कि व्यक्ति के खून में उपलब्ध ब्लड शुगर को भी नियंत्रित करने में सहायक होता है | जैसा की हम अपनी पिछली पोस्ट ‘डायबिटीज एवं इसके होने के कारणों’’ में जान चुके हैं की यह रोग एक बार लग जाय तो पूरी तरह से ठीक नहीं होता हाँ लेकिन यदि ब्लड शुगर नियंत्रित रहे तो इससे पीड़ित व्यक्ति आम आदमी की तरह जिंदगी जी सकता है | इसलिए यह जरुरी हो जाता है की डायबिटीज या मधुमेह से पीड़ित व्यक्ति हमेशा डायबिटीज में खाने पीने का विशेष ध्यान रखे तब भी जब ब्लड शुगर की रिपोर्ट नार्मल आ जाए | आज हम अपने इस लेख ‘’ Diabetes Diet tips in Hindi में कुछ ऐसी युक्तियों के बारे में जानने की कोशिश करेंगे जिनको अपनाकर डायबिटीज से पीड़ित रोगी अपने ब्लड शुगर अर्थात डायबिटीज को नियंत्रित कर सकते हैं इनमे केवल डायबिटीज में खाने पीने सम्बन्धी युक्तियाँ सम्मिलित की गई हैं | इसके अलावा इससे पहले भी हम मधुमेह को नियंत्रित रखने के लिए होम रेमेडीज के बारे में बात कर चुके हैं | लेकिन आज हम अनाज, सब्जी, फल, ड्राई फ्रूट्स इत्यादि के बारे में बात करेंगे की इनमे से कौन कौन से अनाज, सब्जी, फल, ड्राई फ्रूट्स डायबिटीज में खानी चाहिए और कौन कौन सी नहीं खानी चाहिए |

डायबिटीज में खाने पीने Diabetes-diet-care-tips-in-hindi

डायबिटीज में क्या खाएं(What Food eat in Diabetes in Hindi)

डायबिटीज में खाने पीने सम्बन्धी लिस्ट क्रमवार रूप से नीचे दी गई है |

अनाज जो डायबिटीज में खाना चाहिए :

  • मधुमेह से पीड़ित रोगी अनाज की श्रेणी में से गेहूं, जौ एवं चने की मिस्सी रोटी खा सकते हैं |
  • चोकरयुक्त आटे की रोटी भी खा सकते हैं |
  • अंकुरित अन्न एवं सुपाच्य भोजन भी कर सकते हैं |

सब्जी जो डायबिटीज में खानी चाहिए :

  • खीरा, टमाटर, प्याज यानिकी हरे सलाद का उपयोग किया जा सकता है |
  • खट्टे फल जैसे नीम्बू इत्यादि का सेवन किया जा सकता है |
  • मेथी, करेला, पलक, तुरई, शलजम इत्यादि सब्जी खाई जा सकती है |
  • इसके अलावा लौकी, टिंडा, परमल, सेम, चौलाई, मूली, सहिजना की फली, मूली का साग एवं टमाटर का अधिक उपयोग करने से फायदा होता है |

फल जो डायबिटीज में खाने चाहिए:

  • जामुन अधिक से अधिक खाएं |
  • आंवला का उपयोग लाभकारी है |
  • संतरा भी खा सकते हैं |
  • ककड़ी एवं मौसंबी भी खाना लाभकारी हैं |

ड्राई फ्रूट्स जो डायबिटीज में खाने चाहिए :

  • डायबिटीज के खाने पीने में कच्चा नारियल खाया जा सकता है |
  • मूंगफली के दाने खाए जा सकते हैं |
  • अखरोट, काजू भी खाए जा सकते हैं |

मसाले एवं अन्य:

  • डायबिटीज में खाने पीने में मसाले के तौर पर अदरक, सौंठ, हल्दी, लहसुन इत्यादि लिया जा सकता है |
  • धनिया, दालचीनी, अजमोद भी ली जा सकती हैं |
  • सोयाबीन, दही, छाछ का भी सेवन किया जा सकता है |
  • मेथी के दाने का सेवन किया जा सकता है |
  • डायबिटीज के रोगी को अपने पेट का विशेष ध्यान रखना पड़ता है अर्थात हमेशा पेट साफ़ रखना पड़ता है और Constipation नहीं होनी देनी चाहिए |

डायबिटीज में क्या न खाएं(what food not to eat in diabetes in hindi).

  • मधुमेह में चावल, मांसाहार एवं दूध के पाउडर का परहेज करना चाहिए अर्थात इन्हें नहीं खाना चाहिए |
  • सिंघाड़े, घी, तेल, मक्खन इत्यादि भी न खाएं |
  • चीनी, गुड़, शहद, ग्लूकोज, मिठाइयां, टॉफी, चोकलेट, जैम, जैली, आइसक्रीम इत्यादि मीठे पदार्थों से दूर ही रहना चाहिए |
  • फलों में आम केला इत्यादि का सेवन नहीं करना चाहिए |
  • ठंडा यानिकी कोल्ड ड्रिंक, चाय, काफी इत्यादि का भी सेवन नहीं करना चाहिए |
  • डायबिटीज के खाने पीने में रबड़ी, तिल, आलू चिप्स, घुइयाँ, चुकंदर इत्यादि का भी परहेज करना चाहिए |
  • उड़द की दाल, पूरी, पराठे, समोसे , कचौरी, शराब इत्यादि से भी दूरी बनाई रखनी बेहद आवश्यक है |
  • मैदा से बनी चीजें, मक्खन, घी, सिंघाड़े, दूध का पाउडर, बिना तली हुई मछली, अंडे, मांस, चावल डायबिटीज के खाने पीने में नहीं लेनी चाहिए |
  • ऐसे खाद्य पदार्थ जो मीठे हों चाहे वह पीने वाले हों या खाने वाले नहीं खाने चाहिए | इनमे मुख्य रूप से चीनी, गुड, शहद, ग्लूकोस, मिठाइयाँ, जैम, जैली हलुआ, खीर, आइसक्रीम चोकलेट, टॉफी, पपीता, चीकू, आम केला, शकरकंद, गन्ना, सरबत, कोल्ड ड्रिंक्स, अंगूर, चीनी से बनी चाय मीठा दूध, रबड़ी इत्यादि सम्मिलित है |
  • कचौरी पराठे समोसे, उड़द की दाल, पूरी चुकंदर, घुइयाँ, आलू की चिप्स, आलू, टिल इत्यादि भी डायबिटीज के खाने पीने में न लें |
  • ठंडा पानी, मदिरा या बर्फ इत्यादि का सेवन भी वर्जित है |
  • मधुमेह के रोगी को चाहिए की वह अपने आप को भय, चिंता, अशांति इत्यादि से हमेशा दूर रखे |

डायबिटीज में क्या करें?

  • डायबिटीज में सबसे अधिक सुरक्षित व्यायामों की लिस्ट में तेजी से चलना एवं सुबह शाम नियमित रूप से टहलना है हालांकि इसमें चलने की गति धीरे धीरे बढ़नी चाहिए |
  • डायबिटीज में खाने पीने के अलावा तैरना एवं दौड़ना भी बेहद जरुरी है प्रभावित व्यक्ति अपनी पसंद के अनुसार दोनों में से कुछ भी कर सकता है |
  • डायबिटीज की दवा लेने का समय एवं भोजन करने का एक निश्चित समय बनायें और इसका कठोरता से अनुसरण करें |
  • सर्दी से बचने के लिए सर्दियों में पर्याप्त कपड़े अवश्य पहनें |
  • ध्यान रहे डायबिटीज में खाने पीने की टिप्स में एक टिप्स यह भी सम्मिलित हो सकती है की डायबिटीज से प्रभावित व्यक्ति रक्त में सर्करा की कमी के चलते बेहोश हो सकता है इसलिए ऐसे व्यक्ति को अपने पास हमेशा मिश्री या चोकलेट रखनी जरुरी होती है |

डायबिटीज में क्या न करें?

  • टहलते या दौड़ते समय इतनी तेज गति से कभी न दौड़ें की हांफने लग जाएँ |
  • थकने के लिए व्ययाम न करें बल्कि शारीर को चुस्त दुरस्त को रखने के लिए व्यायाम करें इसलिए केवल उतना ही व्यायाम करें जिसमे थकान न हो |
  • खुश रहे अपने मस्तिष्क में मानसिक तनाव पैदा न होने दें |
  • अपना वजन न बढ़ने दें
  • डायबिटीज से ग्रसित व्यक्ति को उपवास करने से बचना चाहिए |

डायबिटीज में खाने पीने के कुछ अन्य टिप्स:

  • दो किलो गेहूं, दो किलो जौ एवं एक किलो चने को एक साथ पिसवा लें इस चोकर सहित आटे को डायबिटीज के खाने पीने में उपयोग में लाया जा सकता है |
  • यद्यपि हम डायबिटीज में कौन कौन सी सब्जी खानी चाहिए के बारे में उपर्युक्त वाक्य में भी बता चुके हैं लेकिन एक बार फिर से बता रहे हैं की सब्जियों में मूली का साग, लौकी, परवल, शलगम, तुरई पालक, कुलफा, सहिजन, करेला, मेथी इत्यादि का सेवन करें |
  • मेथी दाना यानिकी मेथी के बीज को लगभग 25 से 100 ग्राम तक प्रतिदिन सुबह खाली पेट या फिर सब्जी में मिलकर उपयोग या इसके अलावा दाल या आटे में भी उपयोग करके ली जा सकती है |
  • डायबिटीज में खाने पीने में मिठास के लिए सैकरीन, एस्पेरेतम इत्यादि की गोलियां ली जा सकती हैं और बिना चीनी मिली हुई चाय, कॉफ़ी, दूध इत्यादि का सेवन किया जा सकता है |
  • मटन का सूप, दही छाछ सोयाबीन, काजू मूंगफली अखरोट कच्चा नारियल इत्यादि का सेवन कमजोरी दूर करने के लिए किया जा सकता है |
  • चोकर सहित खड़े अनाज, खमीर, सूखे मेवे, मशरूम, फूलगोभी इत्यादि का सेवन इन्सुलिन की प्राप्ति के लिए किया जा सकता है क्योंकि इन्सुलिन के बनने में क्रोमियम की कमी से रुकावट आती है |
  • डायबिटीज में खाने पीने में यह ध्यान रखना होता है की भोजन एक बार में न करके थोड़ा थोड़ा करके तीन चार बार में करना चाहिए |
  • अजमोद, दालचीनी, धनिया, लहसुन, हल्दी, सौंठ, अदरक, नीम की निबोली इत्यादि जड़ी बूटियों का सेवन डायबिटीज में किया जा सकता है |

यह भी पढ़ें:

डायबिटीज अर्थात मधुमेह के लिए योगासनों की लिस्ट |

डायबिटिक रेटिनोपैथी क्या है, यह न हो इसके लिए क्या करें |

मधुमेह को नियंत्रित करने के लिए सात बेस्ट घरेलू उपचार |

डायबिटीज क्या है इसके प्रकार एवं होने के कारणों की जानकारी | 

About Author:

Post Graduate from Delhi University, certified Dietitian & Nutritionists. She also hold a diploma in Naturopathy.

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *