Endometrial Biopsy क्या है कब क्यों और कैसे किया जाता है.

endometrial biopsy को हिंदी में गर्भाशय की परत की बायोप्सी  कहा जा सकता है | यह एक डाइग्नोस्टिक प्रक्रिया है, जिसके द्वारा गर्भाशय की अंदरूनी परत का एक छोटा सा सेम्पल निकाला जाता है, जिसे लैब में टेस्ट के लिये भेजा जाता है । इसके द्वारा यह भी जांच की जाती है कि क्या endometrial मासिक चक्र सामान्य स्टेज पर है की नहीं । इसके द्वारा यह भी जांच की जाती है कि कहीं कैंसर की स्थिति तो नहीं है । स्त्री के मासिक चक्र के साथ गर्भाशय की परत अथवा endometrium परिवर्तित होती रहती है । मासिक के प्रारंभ होने के पश्चात् धीरे-धीरे यह परत मोटी होने लगती है और तब तक होती है, जब तक डिम्ब परिपक्व होकर डिम्बोत्सर्ग (ovulation) नहीं कर देता है । यदि डिम्ब शुक्राणु के द्वारा फर्टिलाइज नहीं होता है, तो यह परत मासिक के साथ बाहर निकल जाती है ।

endometrial-biopsy

endometrial biopsy के लिए सैंपल लेने की विधियाँ:

एण्डोमेट्रियम अथवा गर्भाशय की परत की बायोप्सी के लिये सैम्पल लेने की कई विधियाँ पप्रचलित हैं | आइये जानते हैं की endometrial biopsy के दौरान सैंपल किन किन विधियों द्वारा लिए जाते हैं |

पहली विधि:

इस तकनीक में एक पतले उपकरण pliable instrument के द्वारा गर्भाशय में से कुछ एण्डोमेट्रियल टिशूज को suction के द्वारा निकाला जाता है । यह तकनीक फास्ट है व इसमें अपेक्षाकृत कम असुविधा होती है ।

दूसरी विधि:

इस तकनीक में curette नामक उपकरण के द्वारा गर्भाशय की परत यानिकी एण्डोमेट्रियम का सैम्पल खुरचकर निकाला जाता है, फिर उसे सिरिंज अथवा किसी अन्य कन्टेनर में रखा जाता है ।

तीसरी विधि:

Vabra aspiration में गर्भाशय की परत के टिशूज के सैम्पल को Electric suction device (aspirator) के द्वारा निकाला जाता है । इस तकनीक में अधिक असुविधा हो सकती है ।

चौथी विधि :

endometrial biopsy के दौरान इस चौथी विधि से सैंपल लेने के लिए Endometrium washing में एक तरल पदार्थ के स्प्रे का प्रयोग किया जाता है, जिससे गर्भाशय की परत के टिशूज निकल आते हैं । washing से पहले एक ब्रश के द्वारा गर्भाशय की परत का सैम्पल निकाला जाता है ।

Endometrial biopsy कब की जाती है?

Endometrial biopsy निम्न स्थितियों में की जा सकती है |

  • जब स्त्री के गर्भधारण में कठिनाई होती है, तब यह देखने के लिये endometrial biopsy की जाती है कि क्या गर्भाशय की परत estrogen व progesterone हारमोन के द्वारा समुचित रूप से बन रही है की नहीं ? गर्भधारण के लिये गर्भाशय की परत का सही समय पर सही फेज में होना आवश्यक होता है ।
  • जब गर्भाशय से असामान्य रूप से रक्तस्राव हो रहा हो, तो भी endometrial biopsy की जाती है । इसके द्वारा यह जांच की जाती है । कि endometrium hyperplasia अथवा endometrium cancer तो नहीं है ।
  • Endometrial biopsy की सबसे लंबी प्रक्रिया डी. एण्ड सी. है । गर्भाशय से अधिक मात्रा में रक्तस्राव अर्थात् hemorrhage है, जिसको दवाइयों द्वारा नियंत्रित नहीं किया जा सकता है, इसे नियंत्रित करने के लिये डी. एण्ड सी. की जाती है । इसके द्वारा रक्तस्राव के कारण का निदान भी किया जाता है ।

Endometrial biopsy क्यों की जाती है ? :

  • यह गर्भाशय कैंसर की जांच के लिये की जाती है ।
  • स्त्री में गर्भाशय से भारी रक्तस्राव के कारण की जांच हेतु भी endometrial biopsy की जाती है ।
  • जिन स्त्रियों की रजोनिवृत्ति हो चुकी हो, उनको यदि रक्तस्राव हो रहा है, तो उनकी जांच के लिये भी यह biopsy की जाती है ।
  • यह जांच करने के लिये भी यह biopsy की जाती है। कि क्या Endometrium मासिक चक्र के साथ सामान्य रूप से परिवर्तित हो रही है की नहीं ?

बायोप्सी  से पूर्व की तैयारी :

गर्भावस्था के दौरान यह प्रक्रिया नहीं की जाती है । यदि आप गर्भवती हैं अथवा आपके गर्भवती होने की संभावना है, तो आप डॉक्टर को बता दें । यदि आपको हाल ही में योनि सर्विक्स अथवा पैल्विस में इन्फेक्शन हुआ है, तो भी डॉक्टर को बता दें । इस टेस्ट के 24 घंटे पूर्व से योनि में प्रयोग की जाने वाली टैम्पून दवाओं व स्प्रे आदि का प्रयोग न करें । टेस्ट के 30 से 60 मिनट पूर्व आपको दर्द निवारक दवा दी जाती है, जिससे आपको इस दौरान दर्द का अनुभव न हो । यदि आपका डी. एण्ड सी. होना है, तो 8 घंटे पहले से कुछ खायें-पियें नहीं । यदि आप कोई अन्य दवाएं ले रहीं हैं, तो डॉक्टर से पूछ लें कि आपको इस दौरान उन दवाओं को जारी रखना है अथवा नहीं ।

Endometrial biopsy करने के लिए सही समय

यदि यह प्रक्रिया इनफर्टिलिटी अर्थात बांझपन के कारण के निदान के लिये की जाती है, तो यह मासिक चक्र में एक विशिष्ट समय पर की जानी चाहिये । टेस्ट से यह भी पता चलता है कि endometrium भ्रूण के implantation व उसके विकास हेतु पर्याप्त रूप से विकसित हुई है अथवा नहीं ।

Endometrial Biopsy कैसे की जाती है:

इसके लिये किसी प्रकार के दर्द निवारक इन्जेक्शन आदि की आवश्यकता नहीं होती है । सर्विक्स को स्प्रे अथवा लोकल एनेस्थीसिया द्वारा सुन्न कर दिया जाता है । इस टेस्ट के लिये

आपको अपने कमर से नीचे के कपड़े निकालने होते हैं । आपको पीठ के सहारे लिटाया जाता है व आपके पैर ऊपर कर दिये जाते हैं, जिससे आपके डॉक्टर आपकी योनि व सर्विक्स की आसानी से जांच कर सकें । इस प्रक्रिया यानिकी Endometrial Biopsy के दौरान डॉक्टर योनि में एक उपकरण, जिसमें चिकना व मुड़ा हुआ ब्लेड जैसा होता है, जिसे speculum कहते हैं, डालते हैं । यह उपकरण योनि को धीरे से इतना फैला देता है कि योनि व गर्भाशय के मुख के अंदर देखा जा सके । गर्भाशय के मुख को antiseptic solution के द्वारा साफ किया जाता है, फिर सर्विक्स को एक क्लैम्प जिसे tenaculum कहते हैं, के द्वारा पकड़कर रखा जाता है । Endometrium का सेम्पल लेने के लिये उपकरण को सर्विक्स द्वारा गर्भाशय में डाला जाता है । इसके बाद सेम्पल एकत्र करने के लिये उपकरणं को घुमाया जाता है । इस प्रक्रिया में स्त्रियों को दर्द अनुभव होता है, जिसके लिये उन्हें पहले दर्द निवारक दवाएं दी जा सकती हैं । जब सेम्पल एकत्र हो जाता है, तो उपकरणों को धीरे से बाहर निकाल लिया जाता है । ध्यान रहे यदि आपको दर्द निवारक नहीं दिया गया है, तो आपको उपकरण सर्विक्स में डालते समय दर्द का अनुभव होता है । जब सेम्पल एकत्र किया जाता है, उस समय अधिक दर्द होता है । कई स्त्रियों को मासिक जैसा दर्द होता है । इस दर्द निवारण के लिये टेस्ट के 30 मिनट पूर्व दवा ली जा सकती है ।

Endometrial Biopsy के बाद की देखभाल :

  • इस प्रक्रिया के परिणामस्वरूप थोड़ा रक्तस्राव होता है, जिसके लिये आपको सैनिटरी पैड की आवश्यकता होती है । स्त्री अपनी सामान्य दिनचर्या प्रारंभ कर सकती है । यदि दर्द व रक्तस्राव अधिक है अथवा बुखार है, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिये ।
  • यदि यह टेस्ट इनफर्टिलिटी का कारण ज्ञात करने के उद्देश्य से किया जाता है, तो मासिक आने पर डॉक्टर को सूचित करना चाहिये, जिससे डॉक्टर यह अनुमान लगा सकें कि क्या endometrium सही फेज में विकसित हो रही है की नहीं ?

क्या खतरा हो सकता है ? :

इस प्रक्रिया में गर्भाशय के पंचर होने व सर्विक्स को क्षति पहुंचने की संभावना हो सकती है । हालांकि यह दोनों ही संभावनायें बहुत कम होती हैं । दूसरी संभावना यह है कि Endometrial Biopsy प्रक्रिया के दौरान अथवा उसके बाद अत्यधिक रक्तस्राव होता है और पैल्विक इन्फेक्शन हो जाता है । इन्फेक्शन के लक्षण बुखार, पैल्विस में दर्द व अनियमित योनिस्राव होता है । यदि जनरल एनेस्थीसिया दिया जाता है, तो उसके खतरे अलग हो सकते हैं ।

यह भी पढ़ें:

About Author:

HBG Health desk is a team of Experienced professionals holding various skills. They are expert to do research online and offline on health, beauty, wellness, and other components of health in Hindi.

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *