स्वस्थ्य रहने के लिए 32 हेल्थ टिप्स हिन्दी में |

निम्नलिखित कुछ ऐसे Health Tips Hindi में दिए जा रहे हैं जिनका यदि कोई भी मनुष्य अनुसरण करेगा तो शायद ही वह अपनी पूरी जिंदगी में कभी अस्वस्थ महसूस करेगा | ये जो Health Tips Hindi में नीचे दिए जा रहे हैं ये पहले पहले अनुसरण करने में असम्भव से प्रतीत हो सकते हैं लेकिन यदि इन्सान ठान ले तो क्या नहीं कर सकता फिर जब बात हमारे स्वास्थ्य की आती है तो इन्सान को चाहिए की वह अपने स्वास्थ्य को स्वस्थ्य रखने के लिए बढ़ चढ़ कर हिस्सा ले | जो व्यक्ति हमारे इस लेख को सिर्फ एक लेख न समझकर इस लेख में उल्लेखित बातों को अपने जीवन में अनुसरित करेगा हमारा अनुभव कहता है की वह व्यक्ति या उस व्यक्ति को कोई भी रोग कभी भी छूने की हिमाकत कम ही करेगा | तो आइये जानते हैं की ऐसे Health tips Hindi में कौन कौन से हैं |

Health-tips-in-hindi

  1. हमारा पहला हेल्थ टिप्स हिन्दी में प्रात: काल नींद से जागने के विषय में है जो व्यक्ति नियमित रूप से सूर्योदय से पहले बिस्तर का त्याग कर देते हैं वे कम बीमार पड़ते हैं |
  2. दूसरा टिप्स यह है की हेल्थी रहने के इच्छुक व्यक्तियों को तांबे के बर्तन में रात को पानी रखना चाहिए व सुबह कम से कम दो गिलास या इससे भी अधिक पानी खाली पेट पी लेना चाहिए ।
  3. नियमित रूप से एक चम्मच त्रिफला चूर्ण का प्रयोग बेहद फायदेमंद होता है ।
  4. नाश्ते में शुद्ध एवं ताजा आहार लें, डिब्बा, पैकेट या शीशियों में बंद आहार का जहाँ तक हो सके त्याग कर दें ।
  5. यह Health Tips hindi में यह है की तम्बाकू, बीड़ी, सिगरेट, शराब, गांजा, अफीम इत्यादि नशीले पदार्थ हमारे शरीर को अन्दर ही अन्दर खोखला कर देते हैं, इसलिए इन नशीले पदार्थों का सेवन करना त्याग दें।
  6. आहार में शाकाहारी भोजन, सलाद, फल, जूस इत्यादि भरपूर मात्रा में लेने की आदत डालें |
  7. दोपहर के पहले भोजन करने की कोशिश करें और रात्रि विश्राम के 2 घंटे पहले भोजन करें या भोजन करने के दो घंटे बाद तक सोयें नहीं लेकिन रात्रि को जल्दी सोकर सुबह जल्दी उठें ।
  8. सात्विक और शुद्ध भोज्य पदार्थ मनुष्य के ओज और तेज का तो निर्माण करते ही हैं साथ ही ख़ुशी एवं प्यार जैसी अद्भुत भावनाओं को उत्पन्न होने में भी मदद करता है |
  9. खांसी, छींक, उलटी, पेशाब, जम्हाई एवं शौच को रोकना नहीं चाहिए क्योंकि इन्हें रोकने से विभिन्न तरह की बीमारियाँ जन्म लेती हैं |
  10. यह Health Tips Hindi कहता है की मनुष्य को जानवरों की तरह दिन भर जुगाली नहीं करना चाहिए कहने का आशय यह है की जब किसी व्यक्ति द्वारा चिंगम, गुटखा, तम्बाकू, पान मसाला इत्यादि दिन भर चबाये जाते हैं तो वह व्यक्ति इस बात से अनभिज्ञ रहता है की वह गुटखा , तम्बाकू, पान नहीं चबा रहा बल्कि यह सब चीजें उस व्यक्ति को चबा रही हैं |
  11. रात को सोने से पहले अपने हाथों, पैरों एवं चेहरे को साफ़ पानी से अवश्य धो लें क्योंकि यह क्रिया करने से नींद अच्छी आएगी जिससे स्वास्थ्य में भी लाभ होगा |
  12. पेट की बीमारियाँ जैसे कब्ज, अजीर्ण, वात, पित्त, कफ सब व्रत लेने से नियंत्रण में आ सकते हैं |
  13. अगला Health Tips Hindi में यह है की जीवन जीने के लिए खाना खाएँ, न की खाने के लिए जिएँ। आहार शुद्ध होने से अंत:करण की शुद्धि होती है। अंतःकरण की शुद्धि से निश्चल स्मृति मिलती है, स्मृति की प्राप्ति होने पर सम्पूर्ण ग्रंथियाँ बत जाती हैं।
  14. वात, पित, कफ़; ये तीनों ही शरीर को रोगी और निरोगी बनाते हैं। इनको ध्यान में रखकर अपना खान-पान, व्यवहार, व्यायाम, दिनचर्या तथा बाकी की अन्य बातें निर्धारित करनी चाहिए । जिससे कोई भी व्यक्ति वात, पित्त, कफ़ के प्रकोप से बच सकने में सक्षम हो सके ।
  15. अपने आत्मबल से वात, पित, कफ़ को संतुलित करें। वात रोग शांत करने के लिए चिंता का त्याग करें। पित्त रोग को शांत करने के लिए अपनी क्षमताएँ बढ़ाएँ और कफ़ रोग को शांत करने के लिए अपने स्वभाव में स्थिरता लाएँ।
  16. अगला Health Tips Hindi में यह है की रात को दो बादाम पानी में डाल दें एवं सुबह दूध के साथ छिलका उतारकर व घिसकर खाएँ। यह आपकी स्मरणशक्ति में वृद्धि करता है तथा दिमाग तेज़ करता है।
  17. सूक्ष्म व्यायाम व हल्के आसन के साथ सूर्य नमस्कार करना चाहिए ।
  18. अच्छे स्वास्थ्य के लिए नियमानुसार योगाभ्यास करना भी जरुरी है ।
  19. योगासन सम्बंधी क्रियाएँ मनुष्य को केवल अच्छा स्वास्थ्य ही प्रदान नहीं करतीं बल्कि वे हमें मानसिक स्वस्थता भी प्रदान करती हैं।
  20. मात्र योग ही आज एक ऐसा विकल्प है जिससे मेरुदण्ड में लचीलापन पैदा किया जा सकता है। यह शरीर, मन तथा मस्तिष्क को अच्छा स्वास्थ्य व सुख-शांति प्रदान करता है। कहा भी गया है कि ‘स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क का निवास होता है।’
  21. उपनिषदों में कहा गया है की जिसने योगाभ्यास की अग्नि से अपने शरीर को तपा लिया हो उसे फिर न कोई रोग सताता है न ही बुढ़ापा। मृत्यु भी उसके पास जाने से डरती है |
  22. सकारात्मक सोच रखें। बड़ी सोच का जादू ही बड़ा होता है, इसलिए बड़ी सोच को क्रियान्वित करने की कोशिश करते रहें अच्छे साहित्य पढने से उर्जावान बना जा सकता है |
  23. विनम्रता मनुष्य को शक्तिशाली बनाती है इसलिए विनम्र रहें तो शक्तिशाली आप अपने आप हो जायेंगे ।
  24. दिनभर व्यस्त रहते हुए भी अपनी देह के प्रति सजग रहें । परिवार के अन्य लोगों से अपेक्षा न करते हुए उन्हें स्नेह/प्यार दें।
  25. दस बातों क्षमा, मार्दव, आजव, शौच, सत्य, संयम, तप, त्याग, अकिचन और ब्रह्मचर्य का चिंतन करें और उनका पालन करने की कोशिश करें।
  26. स्वस्थ्य रहने के लिए चार चीज़े छोड़ दें – क्रोध, अभिमान, माया, लोभ।
  27. अगला Health Tips Hindi में यह है की सिर में शुद्ध तेल की मालिश ज़रूर करें। बाज़ार के खुशबू वाले तेल से बचें। नारियल का तेल, सरसों का तेल या बादाम का तेल लगाएँ, वे मस्तिष्क को ताजगी देते हैं।
  28. प्रतिदिन अच्छा साहित्य पढ़ने की आदत डालें इससे मानसिक स्वास्थ्य में लाभ पहुंचेगा और वैसे भी ज्ञान कभी निरर्थक नहीं जाता।
  29. संत ज्ञानेश्वर ने कहा है जब शरीर में सात्विक रस रूपी बादल बरसते हैं तब आयुष्य रूपी नदी दिन-दिन बढ़ती जाती है।
  30. जिसके अंदर आत्मबल है उसकी मदद देवता भी करते हैं। ध्यान रहे जैसे टेलीविज़न के अंदर का कोई भी पुर्जा ज़रा सा भी खराब हो जाता है तो तस्वीर सही नहीं आती, धुंधली आती है। रेखाएँ आती हैं या ख़राब दिखाई देता है। वैसे ही मनुष्य शरीर का कोई अंग यदि प्रकोपित है तो मनुष्य की ज़िंदगी भी ख़राब टेलीविज़न की भाँति हो जाती है। इसलिए इससे बचने के लिए स्वास्थ्य की तरफ़ ध्यान दें आपकी तस्वीर सदा अच्छी दिखती रहेगी |
  31. हमारा शरीर कई पुद्गल परमाणुओं का पुंज है। अनंत अणु तथा परमाणुओं से मिलकर बना है। वे सभी इसी ब्रह्माण्ड के असंख्य रहस्य छिपाए हुए हैं। अपने आपको और अपने शरीर को जानने की कोशिश करें। न जाने कौन सा रहस्य, कौन सी शक्ति प्रदान कर जाए ।

यह भी पढ़ें:

स्वस्थ्य रहने के लिए खान पान के सही नियम तरीके |

वेगन डाइट से मोटापे को कैसे कम करें |

कुछ गंभीर बीमारियों के शुरूआती लक्षण |

लंच के बाद टहलने अर्थात घुमने के फायदे |

मानव शरीर के बारे में अद्भुत या रोचक जानकारी |  

  1. अंतिम Health Tips Hindi में यह है की जैसे हम मकान बनाते समय यदि नक़ली माल लगा देंगे तो वह जल्दी गिर एवं टूटकर बिखर सकता है । उसी प्रकार हम जो भोजन करते हैं उसी से हमारे शरीर का निर्माण होता है इसलिए यह सब हम पर निर्भर करता है कि हम अपने देह-रूपी मकान को किस तरह बनता हुआ देखना चाहते हैं ।

About Author:

HBG Health desk is a team of Experienced professionals holding various skills. They are expert to do research online and offline on health, beauty, wellness, and other components of health in Hindi.

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *