Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
गर्दन की सुन्दरता

गर्दन की सुन्दरता के लिए बेहतरीन घरेलू उपाय

गर्दन की सुन्दरता का ही नहीं अपितु मनुष्य को अपने हर एक अंग की सुन्दरता का ध्यान अवश्य रखना चाहिए | नारी को सौन्दर्य की मूरत कहा जाता है वही नारी सौन्दर्य की मूरत कहलाती है जिसकी गर्दन की सुन्दरता भी लोगों को आकर्षित करे | आज हम हमारे इस लेख के माध्यम से गर्दन को सुन्दर बनाने हेतु उपयोग में लाये जाने वाले कुछ नहीं अपितु बहुत सारे घरेलू उपायों के बारे में वार्तालाप करेंगे जिन्हें अपनाकर कोई भी महिला अपनी गर्दन को सुन्दर बनाकर अपनी सुन्दरता पर चार चाँद लगा सकती है |

गर्दन की सुन्दरता

  • गर्दन की सुन्दरता को निखारने के लिए स्नान से दस मिनट पूर्व गर्दन पर पपीते का गूदा मलें ।
  • डेढ़ छोटा चम्मच मुलतानी मिट्टी, 1 छोटा चम्मच शहद, 1/2 छोटा चम्मच सल्फर पाउडर तथा दही मिलाकर गरदन पर लगाएँ, 20 मिनिट बाद गुनगुने पानी से धोएँ । ध्यान रखें यह मिश्रण आँखों व मुँह में न जाने पाए ।
  • सप्ताह में एक बार यदि अण्डे की सफेदी गरदन पर 15 मिनिट लगा कर धो दें तो गरदन पर झुर्रियाँ होने से रोकी जा सकती हैं ।
  • एक शीशी में 2 चम्मच ग्लिसरीन, 4 चम्मच गुलाबजल, 4 चम्मच नीबू का रस व 1 चम्मच बोरेक्स पाउडर मिला कर रख लें । रोज रात को सोने से पहले इस लोशन से गर्दन पर मालिश करने से गर्दन की सुन्दरता निखरती है ।
  • खीरे का टुकड़ा गर्दन पर मलने से भी गरदन साफ होती है ।
  • पतली गरदन का पतलापन दूर करने के लिए रोज 15-20 मिनट जैतून के तेल या बादाम रोगन से मालिश करें ।
  • आटे का चोकर दूध में भिगो दें, फूलने पर इसे गरदन पर उबटन की भाँति लगाएँ व 15 मिनिट बाद हलका रगड़ कर धो दें ।
  • गर्दन की सुन्दरता बरकरार रखने के लिए माह में एक बार गरदन को ब्लीच कराएँ । जिनकी गरदन काली हो व गरदन पर बाल हों, उनके लिए तो ब्लीच बहुत जरूरी है । 2 चम्मच ब्लीचिंग पाउडर में 5-6 बूंदें अमोनिया व हाइड्रोजन पैराक्साइड डाल कर पेस्ट बनाएँ । पेस्ट पतला न हो । इसे गरदन पर ब्रुश से लगाएँ । 15-20 मिनिट बाद सादे पानी से धोएँ व पोंछ कर हल्की कोल्ड क्रीम लगाएँ इससे त्वचा का रंग निखरता है ।
  • आटे में हल्दी, पिसी मूंगफली व दूध को मिलाकर गरदन पर लेप करें । कुछ देर बाद गरदन धो लें, कालापन साफ हो जायेगा ।
  • गर्दन की सुन्दरता बढ़ाने हेतु रात को मलाई में कुछ बूंदें नीबू के रस की मिलाकर मालिश करें ।
  • 1 छोटे चम्मच मक्खन, 2 चम्मच दूध में फेंट लें । चेहरे, गरदन पर 1/2 घण्टे के लिए लगा लें, फिर धो दें ।
  • चार चम्मच अंगूर के रस को रुई की सहायता से चेहरे व गरदन पर लगाएँ और 15 मिनिट बाद धो डालें । इस अंगूर के लोशन से चेहरे की त्वचा कोमल होती है व रंग साफ हो जाता है । आलू के टुकड़ों को गरदन, कुहनियों आदि सख्त स्थानों पर रगड़ने से त्वचा साफ होती है |
  • एक गिलास गर्म पानी में चौथाई चम्मच नमक डाल कर दिन में तीन बार गरारे करने से आराम मिलता है ।
  • गर्दन की सुन्दरता के लिए गए का स्वस्थ रहना भी बेहद जरुरी है इसलिए एक गिलास-गर्म पानी में आधा चम्मच फूली फिटकरी डालकर दिन में दो-चार बार गरारे करें । इससे गले की सूजन व दर्द ठीक होता है । गले में यदि छाले हों तो उनमें भी आराम मिलता है ।
  • गले की सूजन व दर्द के लिए एक चम्मच अजवायन एक गिलास पानी में डालकर अच्छी तरह से उबाल लें । थोड़ा नमक डालकर दिन में तीन बार विशेषत: रात को सोते समय गरारे करें, शीघ्र लाभ होगा । यदि अधिक बोलने, जोर से बोलने अथवा रात को जागने के कारण गला बैठ गया हो तो सुहागे का छोटा-सा टुकड़ा मुँह में रख कर चूसें । गला बिल्कुल साफ हो जाएगा । गला खराब होने, आवाज भारी होने पर पान में मुलहठी का चूर्ण अथवा मलहठी का टकड़ा रख कर धीरे-धीरे चबाएँ व चूसें । गला साफ हो जाएगा । इसके अतिरिक्त गले का दर्द व सूजन भी दूर होगी ।
  • अगर गले में सूजन आ गई हो, कफ अधिक आता हो तो सोने से पहले थोड़ी सी अजवायन चबा कर ऊपर से गर्म पानी पी लें ।
  • गर्दन की सुन्दरता के लिए आधा कप कच्चा दूध, एक नीबू का रस और तीन बड़े चम्मच मैदा—इनको मिलाकर हाथ व गर्दन पर हल्के हाथों से लगाएँ तथा सूखने पर धो लें। कुछ ही दिनों में गर्दन पर फर्क नजर आएगा । मलाई, हल्दी और नीबू से बना लेप भी गर्दन को गोरा बनाता है।
  • खीरे के टुकड़ों को खौलते दूध में उबालें, ठण्डा होने पर काली गर्दन पर मालिश करें । इससे गर्दन की सुन्दरता में निखार आ जायेगा
  • अण्डे की सफेदी फेंटकर उसमें थोड़ा-सा नीबू का रस मिलाकर गर्दन पर मलें । काली गर्दन का रंग साफ होगा व त्वचा की खुश्की दूर होगी ।

यह भी पढ़ें:

No Comment Yet

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *