मक्खी और मच्छरों से बचने के उपाय

बरसात के मौसममें मक्खियों और मच्छरों की वृद्धि से भोजन के दूषित होने का खतरा पैदा हो जाता हैतथा रक्त चूसने वाले मच्छरों से रात को नींद में बाधा पड़ती है। साथ ही मच्छरों से मलेरिया ज्वर का भी खतरा रहता है । अतएव दिन में मक्खियों और रात को मच्छरों से सुरक्षा के लिए यहां कुछ घरेलू उपायों के प्रयोग प्रभावशाली सिद्ध हुए हैं । तो आइये जानते हैं कुछ ऐसे उपायों के बारे में जिन्हें अपनाकर मक्खियों एवं मच्छरों से बचा जा सकता है ।

makkhi-machhar-se-bachne-ke-upay
  • मक्खियां प्रायःदिन में अधिक परेशान करती हैं इन्हें मारने के लिए बाजार में फ्लाई पेपर और बेगॉनबैट मिलते हैं। फ्लाई पेपर एक मोटा कागज होता है, जिसमें कीट-नाशक तथा चिपकने वाले पदार्थ होते हैं इस पर मक्खियां चिपककर मर जाती हैं।
  • जलते हुए बल्ब के पास इसे लगाकर अन्य कीटाणु भी नष्ट किये जा सकते हैं। बेगॉन बैट का सूखा तथा गीला प्रयोग किया जा सकता हैं। थोड़े-से पानी में भिगोने से इसका असर बढ़ जाता है।
  • यह ध्यान में रखें कि जब तक वे कम न हो जाये बैट को उठाया न जाये। बैट का पूरा लाभ प्राप्त करने के लिए इसे खिड़कियों दरारों, फर्श, अंधेरे कोनों आदि स्थानों पर, जहां मक्खियां, झींगुर कॉक्रोच रहते हों, छिड़किये।
  • मक्खी -मच्छर भगाने के अनेक तरीके हैं । कुछ कपूर आग पर रखकर उस स्थान पर रखें जहां मक्खियां इकट्ठी होती हैं।
  • नीम की पत्तियों का धुआं भी मक्खी -मच्छर भगा देता है। इसके लिए एक बर्तन में आग रखकर उस पर नीम की पत्तियां या गन्धक डाल दीजिए। फिर कमरे में रखकर उसके दरवाजे और खिड़कियां बन्द कर दीजिए। कुछ ही घंटों में नीम या गन्धक के धुएं से वे भाग जाएंगे और काफी समय तक वे फिर वहां न आयेंगे।
  • फर्श पर गर्मपानी में साबुन या किरोसिन तेल मिलाकर छिड़कने से मक्खी-मच्छर नहीं बैठते।
  • मच्छरों से बचने के लिए मच्छरदानी लगाने या शरीर की क्रीम का प्रयोग करें, परन्तु वे अधिक सहायक सिद्ध नहीं होतीं।
  • इसके मुकाबले में खाट या बिस्तरों पर प्याज का रस छिड़कना प्रभावकारी रहता है, परन्तु मच्छरों को भगाने का श्रेष्ठ तरीका है कि उनको घर में आश्रय न मिले। इसलिए नालियों, पानी भरे स्थानों तथा मकान के ऐसे भागों में, जहां मच्छर अंडे दे सकते हों, फिनाइल, मिट्टी का तेल या डी० डी० टी० आदि छिड़कें।
  • अपने घर का हर भाग स्वच्छ रखें। कूड़ेदान, स्नान घर और शौचालय की नियमित सफाई करें।
  • खाने के सभी पदार्थ और पीने का पानी ढककर रखें। खाने की चीज कहीं गिर पड़े तो उसे तत्काल साफ कर दें।
  • खाने के बर्तनों को देर तक गन्दा न रहने दें। उन्हें तुरन्त पानी से धोकर सुखा डालें।
  • मकान की दीवारों पर पीला रंग पोतना चाहिए, इससे मच्छर कम होते हैं।
  • पीले रंग से मच्छरों को घृणा होती है और नीले रंग से प्रेम, नीले रंग से  पुते मकानों में मच्छर अधिक आते हैं।
  • शरीर पर बादाम का तेल मलकर सोने से मच्छर नहीं काटते।
  • इसी प्रकार  सरसों के तेल का भी उपयोग किया जा सकता है।
  • भूसी, गुग्गल और गंधक, बारहसिंगे के सींग की धूनी देने से भी मच्छर भाग जाते हैं।
  • मैले कपड़ों के ढेर भी अधिक समय तक इकट्ठा न होने दें, क्योंकि उनकी गन्दगी से भी हानिकारक कीटाणु आकर्षित होते हैं।

यह भी पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *