मस्सों का घरेलू ईलाज Home Remedies for warts in Hindi.

मस्सों का घरेलू ईलाज जानने से पहले यह जान लेते हैं की मस्से शरीर के किसी भी हिस्से में हों ये अच्छे नहीं लगते हैं चेहरे पर यदि काले मस्से या भूरे मस्से कुछ भी हो जाएँ तो वे चेहरे की खूबसूरती बिगाड़ देते हैं | मस्से होना त्वचा सम्बन्धी रोग है जो पेपिलोमा नामक वायरस के कारण होता है | इसके प्रभाव से त्वचा पर छोटे लेकिन खुरदुरे एवं कठोर पिंड से बन जाते हैं | यद्यपि मस्से अनेकों प्रकार के हो सकते हैं इनमे से कुछ मस्से औइसे होते हैं जिन्हें फोड़ने एवं काटने पर इनका वायरस त्वचा के अन्य हिस्सों में भी फ़ैल सकता है | और कभी कभी यह वायरस एक आदमी से दूसरे की ओर फैलता है | मस्सों का घरेलू ईलाज के बारे में इसलिए भी जानना जरुरी हो जाता है क्योंकि त्वचा पर मस्से होना शर्मिंदगी का कारण बन सकता है | आज हम हमारे इस लेख के माध्यम से मस्सों का घरेलू ईलाज के बारे में जानने की कोशिश करेंगे |

मस्सों का घरेलू ईलाज

मस्सों का घरेलू ईलाज के लिए नुश्खे:

  • ताजी हरी धनिया की पत्ती पीस कर चटनी जैसी बना लें और मस्सों या तिल पर लगाएँ । सूखने पर गुनगुने पानी से धो लें । इसके नियमित प्रयोग से मस्से खत्म हो जायेंगे ।
  • मस्सों का घरेलू ईलाज के लिए सीप को आग में जलाकर पाउडर बना लें । इस पाउडर को गन्ने के सिरके में मिलाकर मस्सों पर लगाएँ । सूखने पर धो दें । इससे मस्से बहुत जल्दी समाप्त हो जाते हैं । घोड़े की पूँछ का एक बाल लेकर मस्से पर कस कर बाँध दें यानी पक्की गाँठ लगा दें और फालतू का बाल काट दें । इससे मस्से में रक्त संचार होना रुक जाएगा और मस्सा अपने आप कटकर गिर जाएगा ।
  • चूने में थोड़ा-सा पानी मिलाकर उसमें थोड़ी-सी सज्जीखार घिस लें । इसका लेप तैयार करें और इसे मस्सों पर लगाएँ । इसके नियमित प्रयोग से कुछ ही दिनों में मस्से झड़ जाएँगे ।
  • मोर की बींट सिरका में घिस कर लगाने से मस्से और तिल तीन दिन में नष्ट हो जाते हैं ।
  • शरीर की त्वचा पर छोटे-छाटे काले मस्से हो गए हों, तो काजू या काजू के छिलकों का तेल लगाइए । मस्से साफ हो जाएँगे । पैरों की बिबाइयों में भी लाभ होगा ।
  • मस्सों का घरेलू ईलाज करने के लिए चूना और घी समभाग लेकर दोनों को खूब फेंटकर सुरक्षित रखें । दिन में 3-4 बार मस्सों पर लगाएँ । मस्से नष्ट हो जाएँगे, दुबारा नहीं होंगे ।
  • गन्धक का तेजाब (Sulphuric Acid) को मस्सों पर लगाना मस्सों को जड़मूल से समाप्त करने के लिए रामबाण है । बड़ी सावधानी से थोड़ी मात्रा में फुरेरी से लगायें ।
  • सोडा कास्टिक 6 ग्राम को 250 ग्राम की शीशी (उबाले हुए साफ ठण्डे पानी) में घोलकर सुरक्षित रक्खें । फुरेरी से सावधानी के साथ मस्सों पर लगाएँ । मस्सों को दूर करने के लिए रामबाण है ।
  • मस्सों का घरेलू ईलाज करने के लिए खट्टी सेब का रस मस्सों पर लगाने से मस्सों के छोटे-छोटे टुकड़े होकर गिर जाते हैं ।
  • मुँहासे या मस्से हों तो फिटकरी और काली मिर्च आधा-आधा ग्राम पानी में पीसकर मुँह पर मलें । मस्सों पर प्रतिदिन दो-तीन बार प्याज के रस का लेप करने से वे झड़ जाते हैं ।
  • घट्टे और मस्से हटाने के लिए उन पर कच्चे पपीते का दूधिया रस लगाएँ । दानेदार खसखस (भारबन्द) का पीला रस या इसके तेल को मस्सों और घट्टों पर लगाएँ आराम मिलेगा ।
  • काजू, बादाम के छिलकों के तेल को घट्टों व मस्सों पर लगाने से, घाव से मवाद निकाल देता है और घाव सूख जाता है ।
  • मजीठ को पीसकर शहद में मिलाकर कई दिन तक लेप करें । तिल, श्याम दाग, मस्से की समस्या से छुटकारा मिल जाएगा । लेप नहाने के एक घण्टे पहले लगाएँ (मजीठ अत्तार के यहाँ मिल जाएगा)। मस्सों का घरेलू ईलाज करने के लिए नीबू का रस 5 ग्राम, जवाखार 5 ग्राम, नीलाथोथा 3 ग्राम, सुहागा 4 ग्राम–इन सबको बारीक पीसकर मस्सों पर लगाने से मस्से कट जाते हैं ।

यह भी पढ़ें:

About Author:

Post Graduate from Delhi University, certified Dietitian & Nutritionists. She also hold a diploma in Naturopathy.

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *