तेजी से मोटापा कम करने के बेहतरीन घरेलू उपाय

मोटापा अपने आप में सबसे बड़ी बीमारी है इसलिए स्वस्थ एवं लम्बा जीवन जीने के लिए मोटापा कम करना बेहद जरुरी है | जैसा की हम सबको विदित है की जैसे जैसे मोटापा बढ़ता जाता है मनुष्य का शरीर बीमारियों का घर बनता जाता है | मोटापे के कारण ही हार्ट अटैक, ब्लड प्रेशर, थकान इत्यादि बीमारियाँ जन्म लेती हैं । मोटापे से महिलाओं में श्वेत प्रदर, मासिक धर्म में अनियमितता, बाँझपन, साँस फूलना जैसे रोग होने का खतरा बढ़ जाता है । मोटापे से गुर्दे की बीमारी, मधुमेह होने का खतरा बढ़ने के साथ साथ इन बीमारियों में मृत्यु दर बढ़ने की भी संभावना होती है । जो लोग अधिक मोटे होते हैं उन्हें शल्यक्रिया के दौरान भी सामान्य लोगों से ज्यादा खतरा रहता है । गठिया जैसे रोग भी मोटे लोगों को जल्दी हो जाते हैं । वर्तमान जीवनशैली में हमारे शरीर का वजन कब जरुरत से अधिक बढ़ जाता है इसका हमें आभास ही नहीं हो पाता और तब आभास होता है जब विभिन्न प्रकार की बीमारियाँ हमारे शरीर में दस्तक देना शुरू कर देती हैं | उस स्थिति में मोटापा कम करना बेहद कठिन हो जाता है इसलिए बेहतर तो यही होगा की वजन को बढ़ने से रोका जाय ताकि मोटापा कम करने या घटाने की नौबत ही नहीं आये |

मोटापा कम करने के उपाय

मोटापे के नुकसान:

हालाँकि किसी पुरुष या महिला का वजन कितना होना चाहिए यह उनकी हाइट पर निर्भर करता है लेकिन साधारण स्थिति में पुरुषों के लिए 70 किलो एवं महिला के लिए 60 किलो वजन को ‘लक्ष्मण रेखा’ माना जा सकता है । मोटापा केवल मुसीबतों की जड़ नहीं है बल्कि यह किसी अभिशाप से कम नहीं है । मोटापा मौत को जल्दी बुलाने का एक माध्यम है । कहा यह जाता है की मोटे शरीर में ही  मोटी बीमारियाँ प्रविष्ट करती हैं | जिन्हें जांचने परखने के लिए  मोटी जाँच, मोटी फीस एवं महंगे डॉक्टरों की आवश्यकता होती है | मोटापे के इतने बड़े नुकसान हैं की यह मनुष्य को सीधे मौत के गले में धकेल देता है इसलिए मोटापा कम करने से भी ज्यादा जरुरी हो जाता है की मोटापा बढ़ने ही नहीं दिया जाय |

मोटापा न बढे इसके लिए क्या करें?

कोई भी मनुष्य जो अपने जीवन में ख़ुशी एवं मस्ती चाहता है को मोटापा कम करना ही होगा या फिर अपने शरीर का मोटापा बढ़ने से रोकना होगा | इसके लिए व्यक्ति को अपने खानपान एवं आदतों पर कुछ नियंत्रण रखना होगा जिसकी लिस्ट निम्नवत है |

  • आपके शरीर में मोटापा न बढे या मोटापा कम करने के लिए खान पान में नियंत्रण रखे इतना खाने की कोशिश न करें कि रोगी बन जायें ।
  • कहने का आशय यह है की कम खाएं और मोटापे से दूर रहें ।
  • अपनी खुराक घटाओ, घूमना बढ़ाओ और मोटापे से मुक्ति पाओ ।
  • हर चीज का स्वाद लो लेकिन किसी भी चीज को पसंद आने पर बहुत ज्यादा मत खाओ |
  • मोटापा कम करने के लिए बाटी, बर्फी, बादाम, बड़े और बिस्कुट कम-से-कम खाओ |
  • घूमना एवं व्यायाम करना वजन घटाने में सहायक है |

हालांकि यह सत्य है की जब तक वजन के बढ़ने के दुष्प्रभाव कोई अपने शरीर पर नहीं महसूस करता है तब तक उसके लिए खान पान पर संयम बरतना मुश्किल होता है | लेकिन शरीर का बढ़ा हुआ वजन बाई पास सर्जरी का वारन्ट है । इसलिए वक्त रहते खानपान में संयम एवं जीवनशैली में आवश्यक बदलाव बेहद जरुरी हैं | ऐसे लोग जो शारीरिक मेहनत कम करते हैं उनके लिए दिन भर में केवल 1500 से 2000 कैलोरीवाला भोजन ही काफी होता है | लेकिन जब वे दिन भर में 3000 से 4000 कैलोरीवाला करते हैं तो इस एक्स्ट्रा कैलोरी से उनके शरीर में चर्बी जमा होना शुरू हो जाती है | और जो मोटापा होता है वह शरीर में चर्बी के बढ़ने से ही बढ़ता है | इसलिए चर्बी (Fats) तथा कार्बोहाइड्रेट्स (मीठे) पदार्थों का सेवन कम कर देना चाहिए या नहीं करना चाहिए ।

मोटापे के कारण (Cause of Obesity):

वैसे तो मोटापे के कई कारण हो सकते हैं लेकिन कुछ मुख्य कारणों की लिस्ट इस प्रकार से है |

  • मोटापा बढ़ने के सबसे मुख्य कारणों में से वसा युक्त भोजन का सेवन एक प्रमुख कारण है | वसायुक्त भोजन में माँस, घी, चावल, आलू, तली हुई चीजें, मिठाइयाँ, दानेदार चीनी, केला, अंगूर, चिकने पदार्थ इत्यादि शामिल हैं |
  • दिन में बड़ी देर तक सोते रहना भी एक कारण हो सकता है |
  • शारीरिक परिश्रम न करना अर्थात शारीरिक श्रम में कमी भी मोटापे का एक कारण हो सकती है |
  • पाचन तंत्र की खराबी भी मोटापे का एक कारण हो सकती है |
  • बार बार खाने की आदत भी मोटापे का एक कारण हो सकती है |
  • हालाँकि मोटापे के सभी कारणों में से सबसे बड़ा कारण आवश्यकता से अधिक भोजन करने को माना गया है |
  • मासिक धर्म की अनियमितता या कम होने से भी स्त्रियों में मोटापा बढ़ता है ।

मोटापा कम करने के लिए क्या करें?

मोटापा कम करने के लिए आप निम्नलिखित टिप्स का अनुसरण कर सकते हैं |

  • मोटापा कम करने के लिए संयमित मात्रा में भोजन लें ।
  • भूख लगने पर भोजन के स्थान पर फल, सब्जी इत्यादि का सेवन कर सकते हैं |
  • भोजन करते समय एवं भोजन के तुरंत बाद पानी न पीयें बल्कि खाना खाने के एक घंटे बाद पानी पीयें, और ठंडे पानी से स्नान करें ।
  • अपनी दिनचर्या में कोई ऐसा कार्य अवश्य जोड़ें जिसे करने के लिए शारीरिक श्रम की आवश्यकता होती हो | चाहें तो कभी कभी उपवास भी कर सकते हैं |
  • मोटापा कम करने के लिए जरुरी है की आप भरपेट भोजन न करें बल्कि खाना खाने की इच्छा पूरी होने से पहले ही खाना बन्द कर उठ जाना चाहिए ।
  • डॉक्टरों के मुत्रबिक संगीत सुनने या पुस्तक पढने की आदतें कम भोजन करने में मदद करती हैं |
  • एक दो सप्ताह तक केवल फलाहार किया जा सकता है |
  • मोटापा कम करने के लिए घी, शक्कर, चावल, मिठाई इत्यादि का परित्याग कर देना चाहिए |
  • सन्तुलित, स्वास्थ्यवर्धक और आन्तरिक शुद्धि करने वाला भोजन करना चाहिए जिससे शरीर में
  • उपलब्ध विष नष्ट हो जायें ।
  • शरीर में उपलब्ध विषों को मल, मूत्र एवं पसीने द्वारा बाहर निकाला जा सकता है । इसके लिए यदि व्यक्ति को कब्ज है तो सबसे पहले कब्ज को दूर करना चाहिए, ताकि मल साफ एवं खुलकर आये और पेशाब खुलकर आये इसके लिए व्यक्ति को तरल पदार्थों का सेवन अधिक करना चाहिए | इसके अलावा पसीना निकलने के लिए शारीरिक परिश्रम या व्यायाम किया जा सकता है |
  • शरीर के अन्दर उपलब्ध विष को खत्म करने के लिए गहरे लम्बे स्वास ले सकते हैं ताकि शरीर में ज्यादा ऑक्सीजन पहुंचे |
  • शरीर से चर्बी कम करने के लिए नियमित तौर पर व्यायाम करने की आदत डालें |
  • मोटापा कम करने के लिए स्त्री, पुरुष दोनों भूखे पेट या फिर खाना खाने के पांच घंटे बाद रस्सी कूद सकते हैं |
  • वैज्ञानिकों के अनुसार फिट बने रहने के लिए या मोटापा कम करने के लिए एक्सरसाइज या डाइटिंग तो प्रभावी हैं ही लेकिन सिर्फ कैल्शियम का सेवन करने पर भी मोटापा कम किया जा सकता है | कैल्शियम से एक तरह का हार्मोन रिलीज होता हे जो मेटाबोलिज्म और रक्त संचार को संतुलित करता है । इससे कैलोरीज जलती है और मोटापा अपने-आप कम हो जाता है । इसलिए मोटापा घटाने के लिए भोजन में कैल्शियम की मात्रा बढ़ाई जा सकती है ।

मोटापा कम करने के उपाय (Tips to Reduce Obesity in Hindi):

  • नियमित रूप से घूमकर या टहलकर भी मोटापे को कम किया जा सकता है | तीन मील प्रति घंटा, प्रत्येक दिन घूमने से एक महीने में लगभग एक किलो वजन की कमी आती है ।
  • करेले के रस को वैसे तो अनेकों बीमारियों में फायदेमंद माना जाता है मोटापे में भी इसका फायदा लिया जा सकता है | करले के रस में एक नीबू निचोड़कर उसे प्रात: पीने से भी मोटापा कम हो जाता है ।
  • फलों एवं सब्जियों में कम कैलोरी पायी जाती है इसलिए मोटापा कम करने के लिए इनका सेवन अधिक से अधिक किया जा सकता है | लेकिन चूँकि केला, चीकू मोटापा बढ़ाने में सहायक हैं इसलिए इन्हें नहीं खाना चाहिए | फलों एवं सब्जियों पर नमक भी नहीं डालना चाहिए |
  • भारत में चाय एक प्रसिद्ध पेय है और कहा जाता है की चाय में पुदीना डालकर पीने से मोटापा कम होता है ।
  • मोटापा घटाने के लिए कम नमक या नमक रहित भोजन का सेवन करना चाहिए |
  • मोटापा घटाने के लिए एक नींबू लें उसका रस निचोड़कर उसमे स्वाद के अनुसार सेंधा नमक मिला लें और इस रस को 250 ग्राम पानी में मिलाकर खाली पेट दो माह तक पीयें | यह विधि गर्मियों के मौसम में ज्यादा असरकारक है |
  • एक गिलास गरम पानी लें और उसमे एक नींबू निचोड़ दें और उसमे दो चम्मच शहद ममिलाकर उसका सेवन लगातार चार महीने तक करें |
  • मोटापा कम करने के लिए पालक का रस तैयार कर लें और उसमे एक नीम्बुन निचोड़ लें उसके बाद उसे नियमित तौर पर पीयें |
  • चना भी मोटापा कम करने में सहायक होता है मोटापे में इसका फायदा लेने के लिए चने की दाल को भिगो दें और सुबह उठाकर उस भीगी हुई दाल में शहद मिलाकर खाएं |
  • प्रत्येक दिन नियमित तौर पर कच्चा टमाटर नमक और प्याज के साथ खाने से भी मोटापा धीरे धीरे कम होने लगता है |
  • दही का नित्य सेवन भी मोटापा कम करने में सहायक है |
  • छाछ या मट्ठे में काला नमक एवं अजवाइन डालकर पीने से मोटापा घटता है |
  • तुलसी भी मोटापा घटाने में सहायक होती है इसका फायदा लेने के लिए तुलसी के पत्तों का रस निकल लें, और इस रस को शहद तथा एक कप पानी में मिलाकर पी जाएँ |
  • मोटापा कम करने के लिए प्रतिदिन लगभग 100 ग्राम कुलथी की दाल खाएं |
  • एक सपताह में एक दिन केवल फलाहार का सेवन करने से भी मोटापा घटाने में मदद मिलती है |
  • मोटापा कम करने के उपायों में अगला उपाय पीपल से सम्बंधित है वजन घटाने हेतु इसका फायदा लेने के लिए चार पीपल लें और उन्हें अच्छी तरह पीस लें उसके बाद इसमें आधा चम्मच शहद मिलाकर चाट लें |

आपका वजन संतुलित है की नहीं इसे जानने का सबसे सबसे सरल तरीका यह है की वयस्क होने पर आपकी लम्बाई के अनुसार एक इंच का वजन एक किलो माना जाता है | इसलिए एक छह फीट व्यक्ति जिसकी लम्बाई 72 इंच है उसका संतुलित वजन भी 72 किलो ही होना चाहिए | यदि इससे अधिक होगा तो उस व्यक्ति को मोटापा कम करने की आवश्यकता होगी |

About Author:

HBG Health desk is a team of Experienced professionals holding various skills. They are expert to do research online and offline on health, beauty, wellness, and other components of health in Hindi.

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *