बालों को सुंदर बनाने के कुछ घरेलू उपचार

balo ko sundar banane ke gharelu upchar

महिलाएं अक्सर अपने बालों की सुन्दरता को बढ़ाने के लिए तरह तरह के घरेलू एवं बाजार में उपलब्ध नुश्खों को आजमाती रहती हैं ताकि उनके बाल सुन्दर एवं आकर्षक दिखने लगे । कहने का अबिप्रय यह है की महिलाएं अपने बालों के स्वास्थ्य के बारे में काफी चिंतित रहती हैं इसलिए आज हम हमारे इस

सांवली त्वचा में निखार लाने के घरेलू तरीके.

Sanwali-twcha-me-nikhar

यद्यपि किसी की सांवली त्वचा हो या गोरी त्वचा का रंग सामान्यतः आनुवंशिक गुणों पर निर्भर करता है। लेकिन त्वचा को रंग ‘केलामोसाइटिस’ नामक कोशिकाओं द्वारा मिलता है । यह कोशिकाएं  ‘मेलानिन’ नामक पदार्थ का निर्माण करती हैं जो त्वचा के रंग के लिए उत्तरदायी होता है । रंग देने वाली इन कोशिकाओं पर बाहरी

गोरे रंग का मेकअप करने का तरीका एवं सुझाव ।

गोरे रंग का मेकअप

गोरे रंग की बात करें तो यह एक ऐसा रंग है जो हर किसी को अच्छा लगता है। लेकिन यदि इसे आप और आकर्षक बनाना चाहते हैं तो इसका मेकअप भी बहुत जरुरी हो जाता है। कहने का अभिप्राय यह है की यदि गोरे रंग पर सही ढंग से मेकअप किया जाए तो बरबस सबका

बालों की रुसी के कारण लक्षण एवं क्या खाएं और क्या नहीं खाएं ।

बालों की रुसी के कारण लक्षण

बालों की रुसी या डैंड्रफ होना वर्तमान में एक आम समस्या हो गई है । यह स्वस्थ एवं अच्छे बालों की सबसे बड़ी शत्रु के रूप में उभरकर सामने आई है । चाहे बाल कितने ही घने, काले एवं लम्बे क्यों न हों, यदि बालों में रुसी हो गई है तो उनका आकर्षण एकदम ख़त्म

उच्च रक्तचाप में क्या खाएँ क्या नहीं क्या करें और क्या नहीं ।

उच्च रक्तचाप में क्या खाएं क्या नहीं

उच्च रक्तचाप एक उम्र के बाद आम हो जाता है ह्रदय के निचले भाग के प्रकोष्ठ में संकुचन होकर प्रत्येक धड़कन के साथ जो अधिकतम दबाव उत्पन्न होता है उसे सिस्टोलिक कहा जाता है । और ह्रदय की मांसपेशियों के फैलने के समय जो कम से कम दबाव रहता है उसे डायलोस्टिक प्रेशर कहते हैं।

पेट के अल्सर में क्या खाना चाहिए और क्या परहेज करना चाहिए ।

पेट के अल्सर में क्या खाएं क्या नहीं

पेट के अल्सर की बात करें तो यह पाचन सिस्टम से जुड़ा हुआ एक विशेष रोग होता है । इस रोग में सम्बंधित व्यक्ति के पेट में, खाने की नाली में या छोटी आंत के शुरू के हिस्से जिसे ड्यूडीनम कहा जाता है में जख्म हो जाते हैं । जिस कारण रोगी को काफी परेशानियाँ

गठिया रोग क्यों होता है प्रकार एवं प्राकृतिक तरीकों से उपचार.

गठिया रोग

गठिया, ग्रंथिवात या अंग्रेजी ‘गाउट’ एक ही रोग के अलग-अलग नाम हैं । गठिया रोग पैरों से, विशेषतः पैर में अंगूठे से आरंभ होता है । और धीरे-धीरे बढ़कर शरीर के अन्य छोटे-छोटे जोड़ों या गांठों में फैल जाता है । गठिया रोग क्यों होता है ? स्वस्थ स्त्रियों का रक्त क्षार-प्रधान होता है, परन्तु