गर्मियों में त्वचा की देखभाल के लिए कुछ महत्वपूर्ण टिप्स.

गर्मियों में त्वचा की देखभाल करना इसलिए जरुरी हो जाता है क्योंकि इन दिनों त्वचा तरह तरह की समस्याओं से जूझती हुई नज़र आती है इन दिनों तेज गर्मी, वातावरण में प्रदूषण, नमी इत्यादि के कारण त्वचा अपनी प्रकृतिक चमक खोने पर मजबूर हो जाती है इसके अलावा इस मौसम में त्वचा संक्रमण भी अधिक होते हैं | आज हम इन्ही सब बातों के मद्देनज़र गर्मियों में त्वचा की सुरक्षा के लिए कुछ कुदरती उपायों के बारे में जानने की कोशिश करेंगे | आयुर्वेद के अनुसार सभी रोगों के होने के मुख्य तीन कारण होते हैं वात, पित्त और कफ, गर्मी ‘पित दोष’ का मौसम होता है, जिसका संबंध अग्नि तत्व से होता है। यह दोष मेटाबॉलिज्म (चयापचय) और शरीर में होने वाले परिवर्तनों के लिए जिम्मेदार होता है, जिसमें पाचन भी शामिल है। इसके अलावा कुछ और भी स्वास्थ्य समस्याएं हैं, जो पित्त दोष से जुड़ी होती हैं, जैसे- सीने में जलन, शरीर का अत्यधिक तापमान और पसीना, त्वचा पर चिड़चिड़ापन, रूखे बाल इत्यादि । गर्मियों में अत्यधिक एसिडिटी और अपच के कारण त्वचा का पीएच स्तर कम हो जाता है, जो त्वचा में एलर्जी का कारण बन सकता है । इससे टैनिंग और चेहरे की चमक में कमी आ जाती है। हालांकि गर्मियों में त्वचा की सुरक्षा का उपाय या उपर्युक्त समस्या का निदान सबके रसोईघर में मौजूद होता है ।

गर्मियों में त्वचा की देखभाल

  1. त्वचा की देखभाल के लिए नींबू पानी का उपयोग करें:

गर्मी में त्वचा की देखभाल करने के लिए नींबू पानी का उपयोग बेहद फायदेमंद होता है यह तो हम सबको विदित है की इसकी मदद से हमारे शरीर में विटामिन सी पहुँचता है जो मनुष्य की प्रतिरक्षा प्रणाली को ठीक रखकर इन्सान को सेहतमंद बनाता है | इसके अलावा नींबू फ्री रेडिकल की समस्या से भी लड़ने में मददगार है | प्रतिदिन इसका सेवन करने से गर्मियों में त्वचा चमकदार बनती है। साथ ही यह डिटॉक्सिफाई करने में भी मदद करता है। नींबू नेचुरल ब्लीचिंग का भी काम करता है, जिससे कि त्वचा का रंग हल्का होने में मदद होती है । लेकिन ध्यान रहे त्वचा पर नींबू का उपयोग करने के बाद धूप में नहीं निकलना चाहिए |  क्योंकि सम्बंधित व्यक्ति को इससे जलन की समस्या हो सकती है।

  1. गर्मी में त्वचा पर नमी के लिए एलोवेरा का प्रयोग करें:

वह महिलायें जिनकी त्वचा धूप की वजह से बेजान हो गई हो, उन्हें अपनी त्वचा की देखभाल के लिए  एलोविरा का उपयोग करना चाहिए इसका उपयोग करके वे अपनी त्वचा को जितनी जल्दी चाहें उतनी जल्दी ठीक कर सकती हैं । एलोविरा जैल को लगाने से त्वचा को ठंडक महसूस होती है। साथ ही यह कई प्रकार के बैक्टीरिया, फफूंद और वायरस को भी मारने में सक्षम है । गर्मियों में त्वचा की सुरक्षा के लिए एलोवेरा के जूस का प्रयोग त्वचा की नमी को बनाए रखता है, जिससे त्वचा स्वस्थ दिखाई देती है। इसलिए गर्मी में त्वचा समबन्धि समस्याओं से जूझ रही महिलाएं इन दिनों एलोवेरा का सेवन कर सकती हैं।

  1. गर्मियों में त्वचा की देखभाल के लिए दही का उपयोग भी है फायदेमंद:

गर्मियों में त्वचा की देखभाल हेतु दही का उपयोग त्वचा से टैनिंग दूर करने में सहायक है, कैल्शियम और मैग्नीशियम तत्वों से भरपूर दही सिर्फ मनुष्य की हड्डियों को ही मजबूत नहीं करता, बल्कि त्वचा में निखार भी लाता है। ऐसी महिलाएं या लड़कियां जिनकी धूप की वजह से त्वचा झुलस गई हो, तो वे चेहरे पर सिर्फ दही भी लगा सकती हैं। या फिर इसे बेसन में मिलाकर भी लगा सकती है जिससे गर्मियों में उनकी त्वचा में निखार आ सकता है |

  1. नीम का उपयोग भी है असरकारक:

गर्मियों में यदि हम त्वचा समबन्धि समस्याओं की बात करेंगे तो हम पाएंगे की एलर्जी इन दिनों एक आम समस्या है । त्वचा की एलर्जी से जूझ रहे मनुष्यों को ऐसे मौसम में नीम बड़ी राहत दे सकता है। नीम के औषधीय गुण में खास गुण यह है की इसकी तासीर ठंडी होती है। इसीलिए गर्मी में इसकी पातित्यों का सेवन शरीर के लिए ख़ास तौर पर लाभदायक माना जाता है | नीम में जलनरोधी, फंगसरोधी, जीवाणुरोधी गुण होने के कारण यह मनुष्य की सेहत को लाभ पहुंचाता है | बल्कि नीम का उपयोग ब्यूटी समबन्धि अन्य समस्याओं से निबटने के लिए भी किया जाता है | नीम में भी विटामिन-सी विद्यमान होता है, जो त्वचा और बढ़ती उम्र के असर को दूर करने में सहायक है । और गर्मियों में इसके प्रयोग से त्वचा की एलर्जी तो दूर होती ही है साथ में त्वचा पर निखार भी आता है ।

  1. गर्मियों के लिए त्वचा की खास थेरेपी:

  • त्वचा की टैनिंग दूर करने के लिए प्रभावित महिला या लड़की को चाहिए की वह आधा चम्मच समुद्री नमक, आधा चम्मच ब्राउन शुगर, एक बड़ा चम्मच शिया और कोको बटर को एक साथ मिलाएं।
  • इसमें 10 बूंद नींबू का रस और कुछ बूंदें नेरोली ऑयल की डालें। फिर इसे बॉडी और चेहरे पर लगाएं। हल्के हाथों से 5-10 मिनट के लिए इसे रगड़ें और पांच मिनट के लिए छोड़ दें।
  • चेहरे को धोने के बाद 10-20 एसपीएफ वाला सनस्क्रीन लगाएं। हर हफ्ते इस उपाय को करें।

गर्मियों में त्वचा की देखभाल करने, त्वचा को सुरक्षित एवं हाइड्रेट रखने के लिए महिलाओं को दिन भर भरपूर पानी पीना चाहिए । गर्मी अधिक होने के कारण सादा पानी पीना उबाऊ हो सकता है, इसलिए इसमें स्वाद या खुशबू के लिए नींबू और संतरा डाल सकती हैं। इसके अलावा फलों का रस, आसानी से पचने वाले सलाद और उच्च फाइबर वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करने से त्वचा की खोई चमक वापस आने की पूरी संभावना होती है । ऐसे फल खाएं, जिनमें पानी की मात्रा उच्च हो, जैसे तरबूज, खीरा, संतरा आदि। ऑयली खाना, जंक फूड, खासकर कोल्ड ड्रिक्स, फ्रिज में रखा पानी और बहुत ज्यादा मीठा बिल्कुल न खाएं।

गर्मियों में त्वचा की देखभाल के लिए अन्य टिप्स:

गर्मियों के मौसम की यदि हम बात करें तो यह इस मौसम में हर किसी को अन्य मौसमों की तुलना में अधिक धूल और पसीने का सामना करना पड़ता है क्योंकि सूर्य की गर्मी, गंदगी एवं धूल मिटटी इत्यादि से इस मौसम में अच्छी से अच्छी त्वचा भी डैमेज हो सकती है | या यूँ कहें की चेहरे पर कील मुहांसे, झाइयाँ एवं काले भूरे दाग, घमौरी एवं पसीने की दुर्गन्ध के अलावा भी बहुत सारी समस्याएँ इस मौसम में उजागर होती हैं | इसलिए गर्मियों में त्वचा की देखभाल करना बेहद जरुरी हो जाता है | गर्मियों में त्वचा की देखभाल करने के लिए नीचे कुछ अन्य जरुरी टिप्स दिए जा रहे हैं जिनका अनुसरण करके कोई भी महिला अपनी त्वचा को गर्मियों में सुन्दर बनाये रख सकती है |

  • अक्सर देखा गया है की तैलीय त्वचा अन्य त्वचा से अधिक स्वस्थ होती है इसलिए उसमें हमेशा नमी दिखाई देती है, और सूर्य की किरणें भी उस पर अपना अधिक प्रभाव नहीं डाल पाती | इसलिए गर्मियों में त्वचा की देखभाल के लिए जरुरी हो जाता है की इस तरह की त्वचा पर मेकअप का उपयोग कम करें क्योंकि इस प्रकार की त्वचा में मेकअप पिघल सकता है जिससे वह बदसूरत दिखाई दे सकता है |
  • गर्मी का यह मौसम खास तौर पर तैलीय त्वचा के लिए नुकसानदेह होता है । और इस मौसम में यदि पेट भी खराब हो तो कील मुंहासे जैसी परेशानियाँ उजागर होती हैं, इसलिए गर्मियों में त्वचा की देखभाल के लिए संतुलित भोजन करना चाहिए जिससे पेट हमेशा साफ़ रहे, रेशेदार और कार्बोहाइड्रेटयुक्त भोजन से पेट ठीक रहता है ।
  • तैलीय त्वचा में कांति बनाये रखने के लिए गर्मी के मौसम में नीम के पत्तों को पीसकर और उसमे पुदीने का रस मिलाकर चेहरे पर लगाया जा सकता है, और दस मिनट बाद धोकर बर्फ से चेहरे की मसाज की जा सकती है |
  • झुलसी त्वचा को आराम दिलाने और चेहरे की कमनीयता बरकार रखने के लिए त्वचा के किसी किसी भी प्रकार पर टमाटर के रस से निर्मित आइस क्यूब का मसाज कर सकते हैं |
  • ध्यान रहे की रूखी त्वचा में त्वचा के रोम छिद्र अक्सर खुले नहीं होते, लेकिन इस प्रकार की त्वचा पर भी मेकअप आराम से किया जा सकता है, मगर इस प्रकार की त्वचा को बीमारियों और संकमण से बचाना भी बेहद जरूरी हो जाता है ।
  • गर्मियों में चेहरे की त्वचा की देखभाल करने के लिए सुबह उठकर चेहरे को अच्छी तरह धोकर, उसके बाद संतरे के छिलकों से निर्मित पाउडर में थोड़ा-सा कच्चा दूध मिलाकर चेहरे पर लगाया जा सकता है । और इसको लगाने के पांच-सात मिनट बाद हल्के हाथ से मालिश करके चेहरे को ठन्डे पानी से धो सकते हैं |
  • गर्मियों में त्वचा की देखभाल के लिए रात्रि विश्राम पर जाने से पहले अर्थात सोने से पहले अपने हाथ, पांव एवं चेहरा अच्छी तरह धो लें ताकि आपके इन अंगों के साथ दिन भर की एकत्रित धूल मिटटी आपके विस्तर तक न पहुंचे और इसके बाद त्वचा पर तेलरहित मॉइस्चराइजर लगाया जा सकता है |
  • नाखूनों को अपनी उँगलियों के मुताबिक शेप देने के लिए और नाखूनों के इर्द गिर्द उपलब्ध डेड स्किन को निकालने के लिए प्रत्येक पन्द्रह दिनों में ब्यूटीशियन से मैनीक्योर करा सकते हैं स्नान करते समय और रात्रि विश्राम से पहले हाथों और नाखूनों को अच्छी तरह ब्रश से साफ अवश्य करें ।
  • एड़ियों को फटने से बचाने के लिए पैरों को साफ़ करके उन पर हलकी सी क्रीम अवश्य लगायें और नाखून हमेशा छोटे रखने की ही कोशिश करें |
  • टाइट जूते चप्पल पहनने से पसीना आ सकता है और इसके कारण कॉर्न होने का भय रहता है इसलिए गर्मी के मौसम में आरामदेह जूते चप्पल पहनने चाहिए | ध्यान रहे जूते पहनने से पहले विशेष रूप से पांवों की अँगुलियों में टेल्कम पाउडर लगाया जा सकता है |
  • गर्मियों में पांवों को सुन्दर एवं मांसपेशियों को स्वस्थ रखने के लिए पेडिक्योर अवश्य कराना चाहिए इसके अलवा स्कर्ट पहनने वाली महिलाओं या लड़कियों को वैक्सिंग कराना नहीं भूलना चाहिए |
  • गर्मियों में त्वचा की देखभाल करने के लिए शरीर के खुले हिस्सों में सनस्क्रीन क्रीम का इस्तेमाल बहुत जरुरी होता है |
  • किसी काम से धूप में अधिक समय के लिए निकलने से पहले सनस्क्रीन लोशन को अच्छी तरह लगायें |
  • गर्मियों में हर दिन तेज धूप से बचने के अलावा सुबह शाम स्नान करना लाभकारी होता है | चूँकि गर्मियों में बहुत जल्दी पसीना आ सकता है इसलिए नहाने के बाद शरीर को अच्छी तरह पोछकर खुशबूदार पाउडर लगाया जा सकता है |
  • आँखों की त्वचा की देखभाल, नमी एवं झुर्रियों से बचने के लिए आई क्रीम का इस्तेमाल किया जा सकता है लेकिन इस क्रीम को सोने से पहले धो लेना चाहिए ताकि त्वचा के रोम छिद्र बंद न हों और आखें सूजी हुई न लगे |
  • गर्मियों में त्वचा की देखभाल के लिए अर्थात त्वचा में प्राकृतिक स्रोत विटामिन ई, विटामिन सी की कमी को पूर्ण करने के लिए नाईट क्रीम का इस्तेमाल किया जा सकता है | यह नाईट क्रीम गर्मियों में सूर्य की अल्ट्रावायलेट किरणों के कारण त्वचा में हो रहे नुकसानों से बचाती है |
  • इसके अलावा गर्मियों में सूर्य की किरणों से होने वाले नुकसानों की पूर्ति के लिए ए. एच. ए. से युक्त क्रीम का भी इस्तेमाल किया जा सकता है | इस प्रकार की यह क्रीम त्वचा की ऐज बढ़ाने, मुहांसों और चेहरे के निशानों को कम करने में सहायक होती है |
  • गर्मियों में त्वचा की देखभाल के लिए धूप में निकलने से पहले किसी इत्र या परफ्यूम का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए क्योंकि इस मौसम में तेज धूप होने के कारण त्वचा जलती है और धूप और परफ्यूम मिलकर त्वचा में काले चकते पैदा कर सकते हैं |
  • सूर्य की सीढ़ी किरणों को त्वचा में उपलब्ध कोलाजेन और इलास्टिक टिश्यू को नष्ट करने का जिम्मेदार माना जाता है इसलिए धूप में निकलने से पहले सनस्क्रीन लोशन या सनब्लाक का इस्तेमाल किया जा सकता है |
  • गर्मियों में पसीना बहुत जल्दी आता है और यदि इसे पोछा न गया तो पसीने पर गंदगी चिपक जाती है जिससे चेहरे पर कील मुहांसे होने का खतरा रहता है इसलिए बाहर की तरफ प्रस्थान करते वक्त अपने साथ एक साफ़ रुमाल, पेपर नैपकिन या लेमन और युडीकोलोन में भीगे टिश्यू पेपर अवश्य रखें |
  • गर्मियों में तेज किरणों से होने वाली देखने की असुविधा को दूर करने एवं आँखों के नीचे की त्वचा को नुकसान से बचाने के लिए धूप में चश्मे का इस्तेमाल अवश्य करें |
  • गर्मियों में त्वचा की देखभाल करने के लिए या धूप से त्वचा बाल इत्यादि को बचाने के लिए छाते का इस्तेमाल किया जा सकता है यदि छाता लेके नहीं निकले हैं तो दुपट्टे, साड़ी के पल्लू से सिर को ढका जा सकता है |

 

About Author:

Post Graduate from Delhi University, certified Dietitian & Nutritionists. She also hold a diploma in Naturopathy.

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *