Stomach Cancer-पेट के कैंसर कारण, लक्षण, जाँच एवं ईलाज.

Stomach Cancer को हिंदी में पेट का कैंसर भी कहा जाता है | इसकी उत्पति तब होती है जब पेट की कोशिकाएं असमान्य होकर अनियंत्रित गति से बढ़ने लगती है | कहने का अभिप्राय यह है की जब पेट की असमान्य कोशिकाओं की संख्या सामान्य कोशिकाओं की तुलना में अधिक तीव्र गति से बढ़ने लगती है तो हम इसे पेट का कैंसर यानिकी Stomach Cancer कहते हैं |

Stomach Cancer

पेट के कैंसर के प्रकार (Types of Stomach Cancer in Hindi):

पेट के कैंसर के प्रकार की यदि हम बात करें तो यह मुख्यतः दो प्रकार का होता है | और इन कैंसर के प्रकार का नाम उन उतकों के नाम पर रखा जाता है जहाँ से कैंसर की शुरुआत होती है |

  1. Gastric adenocarcinoma:

गैस्ट्रिक अडीनोकार्सिनोमा को गैस्ट्रिक कैंसर भी कहा जाता है यह पेट की दीवार को ढकने वाली ग्रन्थिय उतकों में उतकों में विक्सित होता है |

  1. Gastrointestinal stromal tumor:

हालांकि इस प्रकार का यह पेट का कैंसर आम नहीं है कहने का आशय यह है की बहुत कम देखने को मिलता है यह पेट की दिवार के संयोजक उतकों में विकसित होता है |

पेट के कैंसर के लक्षण (Symptoms of Stomach Cancer in Hindi):

आरम्भिक अवस्था में पेट के कैंसर की पहचान करना थोडा मुश्किल इसलिए हो जाता है क्योंकि इसके Symptoms अर्थात लक्षण आम तबियत खराब होने में जो लक्षण होते हैं वैसे ही होते हैं | इसलिए यह जरुरी नहीं है की यदि किसी व्यक्ति में निम्नलिखित लक्षण दिखाई दें तो उसे Stomach Cancer ही है | हो सकता है ये लक्षण किसी अन्य परिस्थितियों की वजह से हों | फिर भी यदि किसी व्यक्ति को निम्नलिखित में से कोई भी लक्षण महसूस हो रहे हों तो उन्हें चिकित्सक से अवश्य मिलना चाहिए |

  • खाया हुआ खाना हजम न हो रहा हो अर्थात बदहजमी या फिर पेट में जलन हो रही हो | बदहजमी या पेट में जलन होने कोdyspepsia भी कहते हैं | कहने का आशय यह है की  dyspepsia भी पेट के कैंसर का Symptoms हो सकता है |
  • मतली या उबकाई आना |
  • बहुत कम खाने पर भी पेट भरा हुआ या फूला हुआ सा लगना |
  • पेट में दर्द रहना |
  • अकस्मात या अकारण वजन में कमी होना |
  • जब किसी व्यक्ति को निगलने में परेशानी होती है तो इसे मेडिकल टर्म में dysphagia कहा जाता है यह होना भी Stomach Cancer का लक्षण हो सकता है |
  • रक्त कोशिकाओं में जब लाल रक्त कोशिकाओं या हीमोग्लोबिन की कमी हो जाती है तो उसे एनीमिया कहते हैं अनीमिया भी पेट के कैंसर का लक्षण हो सकता है |

पेट के कैंसर के कारण (Possible Cause of Stomach Cancer in Hindi):

यहाँ पर ध्यान देने वाली बात यह है की जिन पेट के कैंसर की वजहों की बात हम यहाँ पर कर रहे हैं ये ऐसी वजह हैं जिनसे पेट का कैंसर हो सकता है सिर्फ इन वजहों से Stomach Cancer होता है यह सत्य नहीं है | कभी कभी  ऐसा भी होता है की व्यक्ति किन्ही वजहों से मेल नहीं खाता फिर भी उसे इस प्रकार का कैंसर हो जाता है जबकि Stomach Cancer से प्रभावित अधिकतर व्यक्तियों में कम से कम एक वजह पायी जाती है |  हालांकि चिकित्सकीय अनुसंधानकर्ता पेट के कैंसर होने के निश्चित कारणों को पता करने के लिए प्रयासरत हैं लेकिन कुछ संभावित वजहों की लिस्ट निम्नवत है |

  • यदि व्यक्ति पहले से उदर सम्बन्धी किसी दीर्घकालिक अर्थात लम्बी बीमारी से ग्रसित है तो इस स्थिति में पेट के कैंसर होने की संभावना बढ़ जाती है |
  • धुंए में भोजन तैयार करना |
  • भोजन में नमक की अधिकता |
  • भोजन में फलों एवं सब्जियों का अभाव |
  • सिगरेट, बीडी, हुक्का इत्यादि धूम्रपान |
  • परिवार में यदि पहले किसी सदस्य को Stomach Cancer हुआ हो |
  • बढती उम्र |

जाँच एवं ईलाज (Possible test and Treatment for stomach Cancer):

पेट समबन्धि कैंसर की पहचान एवं पड़ताल के लिए कौन सी जांच की जाएगी यह तो एक चिकित्सक व्यक्ति की समस्या को ध्यान में रखकर तय करेगा जिसका कोई विकल्प नहीं है लेकिन यहाँ पर कुछ जांचों की Information दे रहे हैं जो Stomach Cancer की पड़ताल करने के लिए डॉक्टर द्वारा prescribe किये जा सकते हैं |

  • Physical Checkup
  • Blood Test
  • stool sample for test
  • endoscopy (इंडो स्कोप एक पतली सी tube होती है जिसके एक किनारे में लाइट लगी होती है ) इस प्रक्रिया में उपरी पाचन प्रणाली एवं पेट के भीतरी हिस्से की जांच की जाती है |
  • पेट एवं आस पास के हिस्सों का एक्सरे |
  • पेट एवं आस पास के हिस्सों का  CT Scan |
  • पेट एवं आस पास के हिस्सों का  MRI |
  • Biopsy |

जहाँ तक Stomach Cancer के Treatment की बात है आम तौर पर कैंसर के मरीजों का उपचार डॉक्टर यानिकी चिकित्सकों की एक टीम द्वारा किया जाता है जिसमे विभिन्न रोगों के विशेषज्ञ शामिल रहते हैं | इस बीमारी का Treatment पेट के कैंसर का चरण, लक्षणों की गंभीरता एवं मरीज के सामान्य स्वास्थ्य पर निर्भर करता है | Stomach Cancer का Treatment शल्यक्रिया या कैंसर कोशिकाओं को समाप्त करने के उद्देश्य से रेडिएशन थेरेपी या कीमोथेरेपी के माध्यम से किया जा सकता है |

About Author:

HBG Health desk is a team of Experienced professionals holding various skills. They are expert to do research online and offline on health, beauty, wellness, and other components of health in Hindi.

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *