भोजन के प्रकार एवं उनका मनुष्य मन पर प्रभाव

भोजन के प्रकार

भोजन के प्रकार पर वार्तालाप करने से पहले एक पुरानी कहावत का यहाँ पर जिक्र कर लेते हैं यह कहावत आहार से सम्बंधित कहावत है इस कहवत के अनुसार ‘’जैसा खाओगे अन्न वैसा रहेगा मन’’ जैसा पिओगे पानी वैसी होगी वाणी’’ प्रचलित है | मनुष्य जो भी भोजन करता है वह अपने इस शरीर के