Thyroid Cancer – थायरायड कैंसर के प्रकार, कारण लक्षण एवं जाँच.

Thyroid Cancer पुरुषों की तुलना में महिलाओं में अधिक देखने को मिलता है लेकिन इसका मतलब यह बिलकुल नहीं होता की थायराइड कैंसर पुरुषों को होता ही नहीं, बल्कि उम्र बढ़ने के साथ साथ स्त्री पुरुषों दोनों को थायराइड कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है | जैसा की हम सबको विदित है की मानव शरीर में अनेक ग्रंथि होती हैं इन्ही अनेक ग्रंथियों में गले में स्वर तंत्र के पास एक ग्रंथि तितली के आकार की होती है जिसे थायराइड ग्रंथि कहा जाता है | जब इस ग्रंथि की कोशिकाएं अनियंत्रित होकर असमान्य गति से बढ़ने लगती हैं तो इसे ही Thyroid Cancer कहा जाता है | यद्यपि यह भी जरुरी नहीं है की कम उम्र वाले लोगों को यह बीमारी नहीं हो सकती लेकिन कम उम्र वालों में मध्यम उम्र एवं बढती उम्र वाले लोगो से Thyroid Cancer होने का खतरा कम रहता है कम उम्र वाले लोगों में सामन्यतया papillary thyroid carcinoma पाया जाता है |

Thyroid Cancer information in hindi

 

थायरायड कैंसर के प्रकार (Types of Thyroid Cancer in Hindi):

Thyroid Cancer विभिन्न प्रकार का होता है इनमे से कुछ मुख्य प्रकार निम्नलिखित हैं |

    1. Papillary thyroid carcinoma :

थायराइड कैंसर का यह प्रकार कम उम्र की महिलाओं एवं पुरुषों में आम है यह शारीर के अन्य भागों की ओर धीरे धीरे फैलता एवं विकसित होता है |

2. Follicular thyroid carcinoma:

Thyroid Cancer का यह प्रकार आम नहीं है कहने का आशय यह है की यह थोडा कम मात्रा में देखने को मिलता है | और यह प्रकार अक्सर वृद्ध लोगों में अधिक दिखाई देता है | Papillary एवं Follicular दोनों प्रकारों को बहुत बार differentiated thyroid cancer (DTC) भी कहा जाता है | इसके अलावा इन दोनों प्रकार के थायराइड कैंसर का ट्रीटमेंट भी एक ही पद्यति से किया जाता है अच्छी बात यह है की इस प्रकार के अधिकांश कैंसर पूर्ण रूप से ठीक हो जाते है |

    1. Medullary thyroid carcinoma:

यह प्रकार भी बहुत कम मात्रा में पाया जाने वाला कैंसर है और यह आनुवांशिक अर्थात जन्मजात भी हो सकता है इसलिए यदि किसी परिवार के सदस्य को इस प्रकार का कैंसर पहले रहा हो तो उस परिवार के सदस्यों को नियमित रूप से अपनी जांच करानी चाहिए |

4. Anaplastic thyroid carcinoma:

थायराइड कैंसर का यह प्रकार भी आम नहीं है अर्थात बहुत कम पाया जाता है यह भी अधिकतर वृद्ध व्यक्तियों में पाया जाता है और इसके फैलने एवं विकसित होने की गति बड़ी तीव्र होती है | यदि हम इसकी तुलना अन्य Thyroid Cancers से करें तो अन्य के मुकाबले इसका इलाज करना अधिक मुश्किल होता है |

इनके अलावा थायराइड कैंसर के अन्य प्रकार भी होते हैं जैसे थायराइड ग्रंथि में lymphoma भी हो सकता है यद्यपि यह भी बहुत कम पाया जाने वाला प्रकार है | यह थायराइड के लाशिका कोशिकाओं के जाल में शुरू में होता है  यह lymphoma सामान्यतया Non-Hodgkin Lymphoma किस्म के होते हैं | थायराइड के कैंसर के प्रकारों में Anaplastic एवं lymphoma बड़ी तीव्र गति से तो और काफी धीमे गति से फैलते एवं विकसित होते हैं | यदि कैंसर थायराइड ग्रंथि से शरीर के किसी अन्य हिस्से में न फैला हुआ हो तो प्रभावित व्यक्ति का पूर्ण रूप से ट्रीटमेंट हो जाता है |

थायरायड कैंसर के कारण (Possible Cause of thyroid Cancer in Hindi):

हालांकि Thyroid Cancers क्यों होता है इसका कोई निश्चित कारणों का पता चल नहीं पाया है | लेकिन इन कारणों का सही सही पता करने के लिए चिकत्सकीय पेशेवरों एवं संस्थाओं द्वारा अनुसन्धान जारी हैं | यहाँ पर हम जिन possible cause का वर्णन कर रहे हैं उनसे थायराइड कैंसर होने का खतरा बढ़ता है न की ये कहा जा सकता है की सिर्फ इनसे ही इस प्रकार का कैंसर होता है | इसलिए यदि दिए गए Possible Cause किसी व्यक्ति विशेष की परिस्थतियों से मेल खाते हैं तो इसका मतलब यह बिलकुल नहीं है की उसे कैंसर ही होगा या हो जायेगा |

  • थायराइड की बीमारी होना:

ऐसे लोग जिनको पहले से ही थायराइड की कोई बीमारी जैसे goiter जिसमे थायराइड ग्रंथि बढ़ी हो जाती है |  adenoma इस बीमारी में थायराइड में छोटी छोटी गुठलियाँ बन जाती हैं | thyroiditis इसमें थायराइड में जलन होती है इत्यादि बीमारियाँ हैं तो ऐसे लोगों में thyroid Cancer का खतरा बना रहता है | क्योंकि थायराइड कैंसर के मरीजों में पाया गया की इनमे 20% ऐसे लोग थे जिन्हें पहले थायराइड की कोई बीमारी हुई थी |

  • Radiation can be a Reason:

ऐसा पाया गया है की यदि किसी व्यक्ति के बचपन में किसी बीमारी को ठीक करने के लिए उस पर रेडिएशन का उपयोग हुआ हो तो ऐसे व्यक्ति को thyroid Cancer  होने का खतरा रहता है |

  • आनुवंशिकता या परिवार के किसी सदस्य कोMedullary thyroid Cancer हो तो ऐसी स्थिति में परिवार के अन्य सदस्यों को भी इसके होने का खतरा रहता है |
  • वजन अधिक होना अर्थात मोटे लोगों में थायराइड कैंसर की बीमारी अधिक देखी गई है | इसलिए वजन अधिक होना भी इसका संभावित कारण हो सकता है |

थायरायड कैंसर के लक्षण (Symptoms Of Thyroid Cancer in Hindi):

यद्यपि  अधिकतर मरीजों में पाया गया है की यह thyroid Cancer धीरे धीरे विकसित होता है | इसलिए इसके लक्षण भी धीरे धीरे ही देखने को मिलते हैं इस प्रकार के कैंसर होने के कुछ संभावित कारणों की लिस्ट निम्नवत है |

  • गर्दन में यदि कोई ऐसी गाँठ हो जिसमे दर्द न होता हो लेकिन वह धीरे धीरे बढ़ रही हो तो यह एक Symptoms हो सकता है |
  • अकारण ही आवाज फटना या गले में घरघराहट रहना जो बड़े लम्बे समय से ठीक न हो रहा हो |
  • हालांकि सामान्य तौर पर ऐसा नहीं होता लेकिन कभी कभी थायराइड कैंसर से निर्मित गाँठ गलेट इफोफेगस  यानिकी टेंटुए या फिर स्वासनली को भी प्रभावित कर सकता है जिससे निगलने एवं स्वास लेने में तकलीफ हो सकती है |
  • इसके अलावा बहुत कम लेकिन यह भी हो सकता है की thyroid Cancer से पीड़ित व्यक्ति को रीढ़ की हादी की तरफ पीठ में दर्द महसूस हो, लेकिन यह तब होता है जब कैंसर थायराइड ग्रंथि के अलावा भी शरीर के किन्ही अन्य हिस्सों में भी फैल गया हो  |
  • अचानक ही आवाज में परिवर्तन आना |
  • गर्दन में सूजन हो जो बढती जा रही हो |

किसी व्यक्ति विशेष में थायराइड कैंसर का पता करने के लिए चिकित्सक द्वारा विभिन्न जांचों को करने के लिए कहा जा सकता है इसमें कुछ मुख्य जांचों की लिस्ट निम्नवत है |

  • खून की जांच करना |
  • अल्ट्रासाउंड |
  • fine-needle aspiration
  • Core Biopsy
  • CT Scan
  • MRI
  • PET Scan

जांच की रिपोर्ट का अध्यन करने के बाद चिकित्सक कैंसर के आकार, प्रकार, फैलाव इत्यादि को मद्देनज़र शल्यक्रिया, रेडिएशन थेरेपी या कीमोथेरेपी के माध्यम से ट्रीटमेंट शुरू कर सकते हैं |

About Author:

HBG Health desk is a team of Experienced professionals holding various skills. They are expert to do research online and offline on health, beauty, wellness, and other components of health in Hindi.

One thought on “Thyroid Cancer – थायरायड कैंसर के प्रकार, कारण लक्षण एवं जाँच.

  1. very good information bhai and it’s very useful also main apne gher me ye knowledge sabhi se share karunga thanks for this information again.

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *