सफ़ेद बालों का घरेलू उपचार | White Hair Treatment in Hindi.

चाहे स्त्री हो या पुरुष काले घने बालों की चाहत सबको रहती है लेकिन असमय बालों का सफ़ेद (white hair) हो जाना एक आम समस्या है | लेकिन आज जिन Home Remedies की इनफार्मेशन हम white hair treatment के लिए देने वाले हैं वो प्रभावी तो हैं ही साथ में उनके किसी प्रकार का कोई साइड इफ़ेक्ट भी नहीं है | यद्यपि इन दिनों बाज़ार में White hair treatment के लिए ही नहीं बल्कि अन्य समस्याओं के लिए भी सैकड़ों उत्पाद देखने को मिल जायेंगे जिनमे बालों की देखभाल के लिए अधिकतर शैम्पू एवं white hair treatment के लिए मेहंदी एवं डाई देखने को मिलते हैं हम ये बिलकुल नहीं कहते हैं की इन कृत्रिम उत्पादों से बालों को लाभ नहीं होता होता जरुर है लेकिन यह लाभ क्षणिक होता है कहने का आशय यह है की जब जब आप इन उत्पादों का उपयोग करोगे तब तब बालों में कुछ न कुछ परिवर्तन अवश्य दिखाई देगा जैसे मेहँदी या डाई का उपयोग करने पर कुछ दिन बाद फिर से बालों का रंग सफ़ेद होने लगता है | यद्यपि यह सत्य है की एक उम्र के पश्चात् (50-60) की उम्र में बालों का रंग सफ़ेद होना एक सामान्य सी बात है लेकिन आजकल समय से पहले ही White hair problem लोगों में देखी जा रही है | आइये एक नज़र डालते हैं उन कारणों पर जो समय से पहले बालों को सफ़ेद करने के लिए उत्तरदायी हैं |

white-hair-treatment-through-home-remedies

पूरा आर्टिकल (लेख) एक नज़र में.

Cause for white hair in early age in Hindi:

असमय बालों के सफ़ेद होने के पीछे निम्न कारण उत्तरदायी हो सकते हैं |
आनुवंशिकी: आनुवंशिकी से हमारा आशय वंशानुगत समस्या से है कहने का आशय यह है की जिनके माता पिता दादा दादी इत्यादि के बाल बेवक्त सफ़ेद हो गए हों तो संभावना यह लगाईं जाती है की उनके बच्चों के बाल भी बेवक्त सफ़ेद हो सकते हैं |

मेलेनिन की कमी (Deficiency Of Melanin):

मेलेनिन की उत्पति पॉलिमराइज़ेशन का अनुसरण करके अमीनो एसिड टाइरोसिन के ऑक्सीकरण के पश्चात् होती है यह रंग देने वाली कोशिकाओं जिन्हें मेलेनोसाइट्स कहा जाता है में उत्पन्न होता है | इसलिए अधिकांश मामलों में White hair होने का मुख्य कारण मेलेनिन की कमी ही होती है | मेलेनोसाइट्स नामक कोशिकाओं में इसका उत्पादन उचित पोषण एवं प्रोटीन युक्त खुराक पर निर्भर करता है |

हार्मोन: हार्मोन का बालों का रंग कैसा रहेगा इस पर बेहद गहरा प्रभाव पड़ता है यदि हार्मोन का संतुलन बिगड़ गया तो बालों का रंग सफ़ेद हो सकता है |
तनाव: यद्यपि तनाव बहुत सारी समस्याओं की जड़ है काम की अधिकता, आर्थिक परेशानी या फिर अन्य किसी कारण से तनाव में रहना भी White hair problem को जन्म दे सकता है | साथ ही साथ जंक फ़ूड एवं शराब का अधिकतर उपयोग भी बाल सफ़ेद होने का कारण हो सकता है |

बालों पर रासायनिक उत्पादों का उपयोग:

हालांकि यह सत्य है की हम अपने बालों पर जिन भी शैम्पू, बालों के तेल या डाई, मेहँदी इत्यादि का उपयोग बालों के भरण पोषण के लिए ही करते हैं लेकिन कभी-कभी, रासायनिक आधारित शैंपू, साबुन, बाल डाईज आदि का उपयोग White Hair Problem का कारण हो सकता है।

Home Remedies for White Hair in Hindi:

White hair problem के Treatment में प्रयुक्त होने वाली Home Remedies की लिस्ट कुछ इस प्रकार से है |

  • आंवला एवं नींबू का जूस: इस घरेलू उपचार को तैयार करने के लिए प्रभावित महिला/पुरुष को आंवले का पाउडर यानिकी आंवला चूर्ण चाहिए होगा और उस पाउडर को नींबू के जूस में मिक्स करना होगा और फिर इस मिश्रण को प्रभावित महिला या पुरुष को अपने बालों पर एवं खोपड़ी पर भी लगाना होगा | खोपड़ी को इस मिश्रण से मसाज करने पर कुछ दिनों में प्रभावित महिला या व्यक्ति को White hair problem से छुटकारा मिल जायेगा |
  • प्याज का पेस्ट: हालांकि प्याज को खोपड़ी या सिर में लगाने पर आंसू आ सकते हैं लेकिन White hair treatment में यह होम रेमेडी भी काफी प्रभावी है | प्रतिदिन प्याज का पेस्ट खोपड़ी पर लगानेसे और उसे कुछ देर के लिए खोपड़ी पर ही छोड़ देने से कुछ दिनों में परिणाम दिखने शुरू हो जाते हैं |
  • नींबू के रस के साथ नारियल तेल: नारियल तेल बाज़ार में आसानी से उपलब्ध है थोडा सा नारियल तेल लेकर उसमे उतनी ही मात्रा में नींबू का रस मिला दें और इसे खोपड़ी पर लगा लें प्रत्येक दिन यह कार्य करने से भी White hair problem से छुटकारा मिल सकता है |
  • गाज़र का जूस: प्रतिदिन एक गिलास गाज़र का जूस पीने से भी सफ़ेद बालों की समस्या से निजात पाया जा सकता है |
  • तिल के बीज एवं बादाम तेल: तिल के बीजो को पीसकर बादाम के तेल में मिक्स कर लिया जाता है और इस मिश्रण को कुछ हफ़्तों तक खोपड़ी पर लगाने से भी White hair treatment में मदद मिलती है |
  • नारियल तेल एवं जैतून का तेल: 1 चम्मच जैतून का तेल एवं 1 चम्मच नारियल के तेल को मिलाकर हल्का गरम कर लिया जाता है उसके बाद इस तेल से खोपड़ी एवं बालों की मालिश की जाती है सफ़ेद बालों को काला करने में यह Home Remedy ही काफी प्रभावी है |
  • आंवला चूर्ण का लेप: सूखे आंवले के चूर्ण में पानी मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें और इस पेस्ट को पांच दस मिनटों के लिए खोपड़ी पर लगा रहने दें उसके बाद बालों को पानी से धो लें या क्रिया एक हफ्ते में तीन बार लगभग तीन माह तक करने पर White hair treatment में मदद मिलती है और असमय सफ़ेद हुए बाल फिर से काले होने लगते हैं |

About Author:

Post Graduate from Delhi University, certified Dietitian & Nutritionists. She also hold a diploma in Naturopathy.

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *